सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि। सतना में आज तेज आंधी तूफान के साथ झमाझम बारिश हुई। जिले भर में काले बादल दोपहर 3:30 बजे झमाझम बरस पड़े। आफत बनकर आई तेज आंधी तूफान से जहां कई जगह पेड़ गिरे तो वही दुकानों के शेड भी उड़ गए। मैहर में मां शारदा के त्रिकूट पर्वत पर जहां 80 से अधिक श्रद्धालु रोपवे में डेढ़ घंटे से अधिक समय तक फंसे रहे तो सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत भैंसखाना के पास एक इमारत का छज्जा गिरने से एक पल्लेदार की भी मौत हो गई।

जिले के ताला थाना अंतर्गत नीम का पेड़ गिरने से 2 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई जबकि 5 घायल हो गए। बताया जाता है सभी बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे खड़े थे तभी हादसे का शिकार हो गए।

लगभग आधे घंटे तक हुई तेज बारिश से कई जगह जलभराव की स्थिति हुई। तेज हवा और आंधी तूफान बारिश के बाद पूरे जिले में बिजली व्यवस्था ठप हो गई। दोपहर 3:30 से गुल हुई बिजली शाम तक भी नहीं आई इससे लोगों को काफी परेशानी हुई। रामनगर, रामपुर बघेलान, बिरसिंहपुर में पेड़ गिरने की घटनाएं भी सामने आई हैं।

हादसे में मरने वाला पन्ना का निवासी

शहर में तेज आंधी के साथ जमकर बारिश में सतना शहर के भैसाखाना इलाके में बड़ा हादसा हो गया। बारिश से बचाने मकान के छज्जे के नीचे छुपे एक राहगीर के ऊपर गिरा मकान का छज्जा गिर गया जिससे राहगीर की मौत हो गई। मृतक पन्ना जिले के ककरहटी का निवासी बताया जा रहा है जिसकी शिनाख्त गुड्डा यदाव के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि मृतक पल्लेदारी का काम करता था।

पूरे जिले में बिजली व्यवस्था ठप

सोमवार दोपहर से तेज आंधी तूफान के साथ बारिश के बाद से ही पूरे जिले की बिजली व्यवस्था ठप हो गई है। जिले के मझगवां रामपुर बघेलान बिरसिंहपुर मैहर सहित शहर में भी 3:30 बजे से बिजली गुल हो गई जो कि शाम तक नहीं आई। मैहर में बिजली व्यवस्था ठप होने से रोपवे में श्रद्धालु फंस गए और हवा में तेज आंधी तूफान के साथ झूलते रहे। तो वहीं शहर में कई ट्रांसफार्मर भी फाल्ट हुए। वही तेज आंधी के साथ कई जगह बिजली के तारों में पेड़ गिर गए जिससे बिजली व्यवस्था लड़खड़ा गई।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close