सतना (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आरपीएफ थाना सतना में तैनात एएसआई लोकेश पटेल के त्वरित निर्णय व सूझबूझ से की गई मदद के कारण उधना-सासाराम श्रमिक स्पेशल ट्रेन में यात्रा कर रही एक महिला सविता बिंद ने सतना जिला अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया है। दोनों जच्चा-बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है। आरपीएफ थाना प्रभारी मान सिंह ने बताया कि शनिवार को डिप्टी एसएस सतना से सूचना प्राप्त हुई कि ट्रेन नंबर-09091 उधना-सासाराम श्रमिक स्पेशल ट्रेन के कोच नंबर 182236 में यात्रा कर रही एक महिला यात्री को प्रसव पीड़ा हो रही है।

सूचना मिलते ही रेलवे डॉक्टरों को सूचित किया गया। जिस पर डिप्टी एसएस द्वारा बताया गया कि रेलवे डॉक्टर नहीं आएंगे। जिसके बाद ट्रेन के सतना पहुंचने पर सहायक उपनिरीक्षक लोकेश पटेल व प्रधान आरक्षक बृजेश त्रिपाठी द्वारा कोच से महिला को अटेंड किया गया और तत्काल स्ट्रेचर के माध्यम से प्लेटफार्म से बाहर लाया गया। इस दौरान एएसआई द्वारा 108 एंबुलेंस को सूचित किया गया। लेकिन एंबुलेंस समय से नहीं पहुंची। जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने स्टेशन रोड पर पेपर लोड कर रहे ऑटो चालक की मदद लेकर पीड़ित महिला को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां पर ऑन ड्यूटी महिला डॉक्टर ने जांच कर भर्ती कर लिया।

कुछ समय बाद महिला ने बेटे का जन्म दिया। सविता बिंद की मामी रूबी बिंद ने बताया कि उसकी भांजी को प्रसव की तीव्र पीड़ा हो रही थी, जिसे कभी भी डिलेवरी हो सकती थी। रूबी ने बताया कि आरपीएफ सतना के एएसआई लोकेश पटेल की सूझबूझ व तत्परता से उसकी जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना