सीहोर। एनएसयूआइ कार्यकर्ताओं ने लगातार बढ़ले कोरोना वायरस को देखते हुए 10वीं व 12वीं की वार्षिंक परीक्षा को स्थगित करने की मांग की है। कार्यकर्ताओं ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुुंचकर एनएसयूआई जिला उपाध्यक्ष मनीष मेवाड़ा के नेत़ृत्व में स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के नाम का ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर प्रगति वर्मा को दिया है।

एनएसयूआई जिला उपाध्यक्ष मनीष मेवाड़ा ने कहा की मध्यप्रदेश में कोरोना वासरस का प्रकोप बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। एैसे हालातों में मध्य प्रदेश सरकार 10 वीं एवं 12 वीं की वार्षिक परीक्षाएं आयोजित करने जा रही है। यह परीक्षाएं 17 फरवरी से 12 मार्च तक सम्पन्ना होना है। जबकी दूसरी ओर बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए राज्य सरकार ने राज्य में पंचायत चुनाव रदद कर दिए है, लेकिन बच्चों के जीवन से खिलबाड़ कर परीक्षाएं आयोजित की जा रही है। सरकार के गलत निर्णय से छात्र और उनके परिवार के लोगों के स्वस्थ की अनदेखी की जा रही है। आयोजित 10 वी एवं 12वीं की परीक्षा को सामान्य स्थिती होते तक स्थगित कर दिया जाए। क्योंकी लाखों छात्र-छात्राओं व उनके परिवारजनों सहित परीक्षा में लगने वाले कर्मचारियों अधिकारीयों आदि के जीवन को खतरा हो सकता है। ज्ञापन सौपने वालों में एनएसयूआई प्रदेश सचिव सर्वेश व्यास, प्रदीप वर्मा, अभिषेक लोधी, दीपक मालवीय, राहुल भावसार, अंकित कौशल, रवि बैरागी, अंकित त्यागी, हर्षित त्यागी, आनंद वर्मा, रोहित यादव, अर्जुन लोधी, प्रतिक माली, हर्षित बैरागी, प्रेमांजल त्यागी, हनीफ अली, भविष्य मालवीय, विकास विश्वकर्मा, तनिश त्यागी, सिद्धांत राय, सूर्या जदौन आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local