सीहोर। शिव प्रदोष समिति सीहोर द्वारा श्रावण मास के पूर्ण होने पर अखंड रामायण पाठ का आयोजन श्री पिपलेश्वर द्वादश ज्योतिर्लिंग मंदिर चाणक्यपुरी टावर पर कि या जा रहा है। रामायण पाठ आज शनिवार को सुबह 10 बजे प्रारंभ होगा और रविवार को दोपहर 12 बजे तक चलेगा। इसके बाद महाआरती की जाएगी। आयोजन समिति ने सभी श्रद्धालुओं से अपील की है कि कार्यक्रम में उपस्थित होकर अपनी सहभागिता प्रदान करें।

000000

अंडर 14 टीम का फु टबॉल का नेशनल कोचिंग कै ंप आज से

सीहोर। मध्य प्रदेश फु टबॉल संघ के संरक्षक रमेश सक्सेना ने बताया कि अंडर 14 टीम का चयन ट्रायल और कोचिंग कै ंप 24 अगस्त से स्थानीय चर्च ग्राउंड पर प्रारंभ कि या जा रहा है। जिसमें मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों से सर्वश्रेष्ठ 40 खिलाड़ियों को आमंत्रित कि या गया। जिनकों नेशनल कोचों द्वारा कोचिंग दी जाएगी। इस टीम का सिलेक्शन होने के बाद यह मध्यप्रदेश में आयोजित नेशनल में भाग लेगी।

0000

आलकी की पालकी, जय हो नंदलाल की...

- धूमधाम से मनाया श्रीकृष्ण जमन्माष्टमी पर्व, यादव समाज ने निकाल चल समारोह।

- चल समारोह में मथरा और वृद्घांवन की स्वचलित झांकि यां रही आकर्षण का कें द्र।

फोटो 01, सीहोर। चल समारोह में शामिल यादव समाज के लोग। नवदुनिया।

फोटो 02 सीहोर। चल समारोह में शामिल हुए कृषि मंत्री सचिन यादव। नवदुनिया।

फोटो 03, 04, 05 सीहोर। चल समारोह में मथुरा और वृद्घांवन की स्वचलित झांकि यां रही आकर्षण का कें द्र।

सीहोर। नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैयालाल की, आलकी की पालकी, जय हो नंदलाल की... जैसे जयकारों से शुक्रवार को श्रीकृष्ण मंदिर गूंज उठे। अवसर था श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव का। शहर के मंदिरों में श्रद्घज्ञलुओं की भीड़ रही। कई स्थानों पर मटकी फोड़ स्पर्धाएं भी हुई। भजन-कीर्तन देर रात तक चलते रहे। वहीं नगर के विभिन्न मार्गों से यादव समाज द्वारा चल समारोह निकाला गया। जिसमें कृषि मंत्री सचिन यादव भी शामिल हुए। दो दिन जन्माष्टमी होने से कु छ जगह कृष्ण जन्म महोत्सव शनिवार को मनाया जाएगा।

शहर के श्रीकृष्ण मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के साक्षी बनने के लिए सैकड़ों लोग उमड़ पड़े। मंदिरों में फू लों विद्युत की आकर्षक सजावट की गई थी। मंदिरों में पालना (झुला) की भी सजावट हुई। श्रद्घालु भगवान के लिए नए कपड़े लेकर पहुंचे। मंदिरों में माखन मिश्री और सौंठ पिंजरी का प्रसाद बांटा गया। मंदिरों में दर्शन का सिलसिला शाम से शुरु हुआ जो देर रात तक चला। रात के 12 बजते ही मंदिरों में घंटे घड़ियालों की गूंज सुनाई देने लगी और मंदिर परिसर हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैयालाल की तथा नंद घर आनंद भयो के जय घोष गूंजने लगे।

धूमधाम से निकला चल समारोह

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी यादव समाज द्वारा ग्वालटोली गंज स्थित श्रीराधेश्याम मंदिर से चल समारोह निकाला गया। चल समारोह नाई मोहल्ला, राठौर धर्मशाला, राठौर चौराहा, गंज बजरिया, पुराना बस स्टैंड, कोतवाली चौराहा होता हुआ कस्बा पहुंचा। जहां चल समारोह का समापन हुआ। इस चल समारोह में सबसे आगे घुड सवार धर्मध्वज लिए हुए चल रहे थे। उसके पीछे डीजे की धुन पर नाचते गाते युवा और मटकी फोड़ टोलियां चल रही थीं। जो चल समारोह के मार्ग में लगाई गईं मटकि यों को फोड़ रही थी। कई स्थानों पर लोगों ने मटकी फोड दलों के सदस्यों को पुरस्कृत भी कि या। इसके आलावा चल समारोह में वृद्वावन की झांकि यां आकर्षण का कें द्र रहीं।

सजाई आकर्षक झांकि यां

चल समारोह में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म से संबंधित आकर्षक झांकि या भी सजाई गई थी। लोगों के आकर्षण का कें द्र रहीं। वहीं चल समारोह में शामिल भगवान श्रीकृष्ण का आर्षक विमान भी शामिल था। जिसे रोक कर लोग अपने घरों के सामने भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना कर रहे थे।

हुआ चल समारोह का स्वागत

चल समारोह में बड़ी संख्या में यादव समाज के महिला और पुरुष और शहरवासी शामिल हुए। इस मौके पर विभिन्न समाजिक और राजनैतिक संगठनों द्वारा अनेक स्थानों पर मंच बना कर चल समारोह पर पुष्प वर्षा कर यादव समाज के पदाधिकारियों का स्वागत कि या गया।

हुई मटकी फोड़ प्रतियोगिताएं

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर नगर में धर्ममय माहौल देखा गया। इस अवसर पर कई जगह फटकी फोड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन कि या गया। वहीं मटकी फोड़ प्रतियोगिता के रोमांच का दर्शकों ने आनंद उठाया। इस अवसर पर मटकी फोड़ने वालों को पुरस्कार भी दिए गए।

Posted By: Nai Dunia News Network