सीहोर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के छावनी स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर परिसर में क्षेत्रवासियों सहित नगर पालिका के द्वारा कचरा डाला जाता है। इसके लेकर परमार समाज और श्रद्धालुओं ने जिला प्रशासन से अपील की है कि मंदिर परिसर में गंदगी करने वालों पर कार्रवाई की जाए।

इस संबंध में सोमवार को परमार समाज के बने सिंह परमार सहित अन्य लोगों ने जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा है। जानकारी देते हुए चल समारोह अध्यक्ष विष्णु परमार ने बताया कि सोमवार को शहर के प्राचीन जगदीश मंदिर परिसर में साफ-सफाई की गई। यहां पर जेसीबी के द्वारा मंदिर परिसर का समतलीकरण सहित अन्य कार्य किया गया। उन्होंने बताया कि लंबे समय से मंदिर परिसर में क्षेत्रवासियों और नगर पालिका के द्वारा कचरा डाला जाता है। जिससे मंदिर परिसर में आने-जाने वाले श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। शहर के छावनी स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर हजारों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है। परमार समाज के राज गुरु 232 मंदिरों के जीर्णोद्धार व अखिल भारतीय धर्म संघ के अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्री 1008 पंडित काशीप्रसाद कटारे की प्रेरणा से इस मंदिर का जीर्णोद्धार सन 1961 में परमार समाज ने किया था। मंदिर में सौंदर्यीकरण के लिए गत दिनों पौधारोपण सहित अन्य कार्य भी किए जा रहे है। आने वालों दिनों में मंदिर की सुरक्षा के लिए बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाएगा। इसके बाद अन्य धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा। जिला प्रशासन से अपील करने वालों में चंदर सिंह मंडलोई, तुलसीराम पटेल, विष्णु परमार, बने सिंह, नंद किशोर परमार, विजय परमार, शेर सिंह, शिव परमार, विक्रम परमार, महेन्द्र सिंह परमार, वीर सिंह, गब्बर परमार, दशरथ परमार, भगवान सिंह, गगन खत्री, हीरु बेलानी, राकेश शर्मा, रामेश्वर सोनी, गोपाल राठौर, विष्णु सम्राट प्रजापति, पंडित कुणाल व्यास, पप्पू सेन, नरेंद्र डाबी, नंद किशोर संधानी, विवेक श्रीवास्तव आदि शामिल है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local