सीहोर। जिले के कृषकों ने बड़ी संख्या में कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर जनसुनवाई में सामूहिक रूप से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर को ज्ञापन सौंपा। जिसमें कहा गया कि सन 2020 का फसल बीमे की प्रीमियम तो काटी गई थी, परन्तु अभी तक कृषकों का बीमा नहीं मिला है। सोयाबीन की बर्वाद फसलों का सर्वे भी कराया गया था, जिसमें अनेकों गांवों की नष्ट हुई फसल का 100 फीसद नष्ट होने का आंकलन भी प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किया गया था। कृषकों का कहना है कि हमारे द्वारा पूर्व में भी सभी संबंधित कार्यालयों में ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया गया, परन्तु अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई।

किसानों ने यह भी बताया कि मुख्य कल्याण निधि के तहत 22 अक्टूबर की किस्ते किसानों के खाते में अभी तक नहीं डाली गई है। उक्त किस्त भी डलवाई जाए। पीड़ित कृषकों ने यह भी कहा कि बैंकों के माध्यम से बीमा कम्पनियों द्वारा फसलों का बीमा तो किया जाता है, लेकिन जब हमारी फसलें खराब होती तो हमें बीमा राशि के लिए दर-दर भटकना पड़ता है, परन्तु बीमा कम्पनी पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है, यह हमारी समझ से परे है। जबकि फसल खराब होने पर बीमा राशि तत्काल प्रदान कराई जाना चाहिए। मांग की गई है कि इस महंगाई के दौर में हम कृषकों को अपने परिवार का पालन पौषण करना दुभर हो गया है ऊपर से हमारे हक की राशि भी हमें समय पर नही मिल पा रही है। ज्ञापन सौंपने वाले किसानों में प्रमुख रूप से विनय सिंह दांगी, देवेंद्र चौधरी, अंतर सिंह परमार, सुनील पटेल, नेपाल दांगी, राजु, रियासत, महेंद्र दांगी, यादव सिंह, सुनील चौधरी, राजमल गौर, रामस्वरुप दांगी, विक्रम दांगी सहित बड़ी संख्या में सीहोर जिले के अनेकों ग्राम के कृषक उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local