सीहोर। रोजगार दिवस के अवसर पर जिला स्तरीय स्वरोजगार-रोजगार मेला टाउन हाल में आयोजित किया गया। जिसमें कम ही युवा शामिल हुए। जिसका मुख्य कारण मेले में रोजगार न मिल पाना है। बेरोजगारों को हर बार रोजगार मेले में बुलाया जाता है और उन्हें बेरंग ही लौटना पड़ता है। इस बार दिव्यांगों को बुलाया गया था, लेकिन उन्हें भी रोजगार नहीं मिला। बेरोजगार दिव्यांग तो यह कह कर दुखी हो गए कि हमें कोई आमदनी तो है नहीं उपर से यहां बुला दिया हम दूर-दूर से रोजगार के लिए किराया लगाकर आए हैं। वो किराया भी अखर रहा है। उपर से यहां हमारे लिए किसी तरह की व्यवस्था नहीं थी। यहां तक की पानी पीने की भी व्यवस्था नहीं थी। जबकि अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के लिए पानी के बोतलें मंगवाई गई थी। वहीं मेले में कई कंपनियों के प्रतिनिधि आए भी नहीं थे।

जिले में आयोजित रोजगार मेले में बहुत कम संख्या में युवा पहुंचे। मेले में करीब 25 दिव्यांग युवा पहुंचे थे। जिन्हें नौकरी की आस थी। ये युवा अपनी जेब से किराया लगा कर आए थे। जिन्हें रोजगार तो मिला नहीं उपर से कंपनी वालों ने बात ही नहीं की। जिससे वे हताश हो गए। साथ ही उन्हें दिन भर परेशान होना पड़ा। वहीं विभाग का कहना है कि मेले में 100 हितग्राहियों को विभिन्ना योजनाओं के तहत स्वरोजगार के लिए ऋण स्वीकृति पत्र वितरित किए गए। जिले 6875 हितग्राहियों को 36 करोड़ 75 लाख 21 हजार रुपए का ऋण स्वीकृत किया गया। जबकि नौकरी किसी भी बेरोजगार को नहीं मिली। सतपिपलिया निवासी दिव्यांग महेंद्र वर्मा ने बताया कि वो स्नातक हैं और नौकरी के लिए यहां-वहां भटक रहे हैं। यहां भी रोजगार की तलाश में आए थे, लेकिन कोई रोजगार नहीं मिला। इसी तरह हैदरगंज के राहुल राठौर ने बताया कि मैं रोजगार की तलाश में किराया लगाकर आया था, लेकिन यहां कंपनी वालों ने हमसे ठीक से बात तक नहीं की।

आंकड़ों का खेल दिखाया गया

रोजगार मेले का शुभारंभ सीहोर विधायक सुदेश राय, आष्टा विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय, कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर तथा सीइओ जिला पंचायत हर्ष सिंह ने किया। इस अवसर पर सीहोर विधायक श्री राय तथा आष्टा विधायक श्री मालवीय ने कहा कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में नए क्षेत्र तथा नए अवसरों की तलाश के साथ ही कई नई योजनाएं बनाकर युवाओं को रोजगार-स्वरोजगार उपलब्ध कराने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रोजगार दिवस के अवसर पर जिले के 6875 हितग्राहियों को रोजगार प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं के माध्यम से युवा स्वयं का रोजगार स्थापित कर दूसरे लोगों को भी रोजगार देने वाले बने। विधायक श्री राय तथा श्री मालवीय ने हितग्राहियों को स्वरोजगार योजनाओं के ऋण स्वीकृति पत्र वितरित किए। जो आंकड़े बार-बार दिखाए जा रहे थे। वे पिछले वर्ष सरकार द्वारा चलाई जा रही तमाम योजनाओं के हितग्राहियों के थे। जिसमें किसी को 10 हजार से लेकर एक करोड़ तक ऋण दिया गया हो। जबकि युवा दिवस के अवसर पर किसी भी हितग्राही को कोई लाभ नहीं हुआ। कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर व जिला पंचायत सीइओ हर्ष सिंह ने कहा कि जिले के अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए पूरी गंभीरता से जिला प्रशासन द्वारा प्रयास किया जा रहा है। रोजगार दिवस के अवसर पर भोपाल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संबोधन सीधा प्रसारण देखा तथा सुना गया।

6875 युवाओं को स्वरोजगार-रोजगार

जिले के 6875 हितग्राहियों को 36 करोड़ 75 लाख 31 हजार रुपये की राशि विभिन्ना योजनाओं के तहत ऋण स्वीकृत की गई। इसमें मुद्रा योजना के तहत 5094 हितग्राहियों को 24 करोड़ 64 लाख रुपये, पीएम स्वनिधि योजना के तहत 610 हितग्राहियों को 83 लाख 40 हजार, एनआरएलएम के 420 समूहों को आठ करोड़ पांच लाख 12 हजार, यूएलएम के तहत 71 हितग्राहियों को 94 लाख 50 हजार, एनयूएलएल के 35 समूहों को 54 लाख 56 हजार, सीएम स्ट्रीट वेंडर्स योजना के तहत 594 हितग्राहियों को 59 लाख 40 हजार तथा प्रधानमंत्री सृजन कार्यक्रम के तहत फाइव वन हितग्राहियों को एक करोड़ 14 लाख 33 हजार रुपये ऋण राशि स्वीकृत की गई है।

रोजगार मेले का आयोजन

जिला रोजगार कार्यालय द्वारा अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक 72 रोजगार मेले आयोजित किए गए। इन मेलों में 4582 युवक-युवतियों का प्रारंभिक रूप से चयन किया गया तथा 2842 युवक-युवतियों को आफर लेटर प्रदान किया गया। इसी तरह स्वरोजगार योजना के तहत 3612 युवक-युवतियों को 11 करोड़ पांच लाख 61 हजार रुपये ऋण राशि स्वीकृत की गई। इसमें 10 करोड़ 75 लाख 59 हजार रुपये की ऋण राशि वितरित की गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local