जावर। ग्राम कजलास में सोमवार को किसानों ने बस स्टैंड पर लहसुन जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान युवा समाजसेवी सूर्यपालसिंह ठाकुर ने कहा कि आज हमारा किसान खुद अपना पेट नहीं भरता, वह तो पूरे देश और पूरे विश्व का पेट भरता है, लेकिन आज किसान पूरी तरह बर्बाद हो रहा है। हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री किसान पुत्र शिवराजसिंह चौहान से मांग कि निर्यात चालू करवाइए या भावांतर योजना चालू करवाइए। आज लहसुन की लागत 2500 रुपये क्विंटल है और मंडी में 300 से 600 रुपये क्विंटल बिक रही है। इसी तरह 2000 रुपये क्विंटल प्याज की लागत आ रही है मंडी में प्याज 500 से 800 क्विंटल बीच है। ऐसे में किसानों की आय दोगुनी कैसे होगी। आज किसान खेती छोड़ छोड़ कर बेचने को मजबूर हैं। क्योंकि उसमें उसकी मेहनत मजदूरी नहीं निकल रही है ऐसे में कजलास के किसान इकट्ठे होकर लहसुन जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। ठाकुर ने बताया अगले चार-पांच दिनों में तहसील स्तर पर तहसीलदार और जिला स्तर पर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेंगे। उसके बाद भी किसानों की मांग नहीं सुनी तो 15 दिनों के अंदर हम विधायक और सांसद का घर का घेराव करने को मजबूर होंगे। हमारी मांग है कि लहसुन, प्याज का निर्यात चालू किया जाए नहीं तो भावांतर योजना या राजस्थान में हस्तक्षेप योजना चल रही है। उसी आधार पर मध्यप्रदेश में ऐसी योजना चालू कर किसानों का लहसुन और प्याज का उचित दाम दिलाया जाए। विरोध प्रदर्शन के दौरान सूर्यपालसिंह ठाकुर, विजेंद्र ठाकुर, नरपतसिंह पाटीदार, ठाकुरलाल पवार, दुलीचंद पाटीदार, लीलाधर भगवान, श्रीराम ठाकुर, रामचरण पाटीदार, खुशीलाल मालवीय, विनोद ठाकुर, नियाज मंसूरी, देवेंद्र ठाकुर, पिंटू ठाकुर, नारायण राठौर, अंबाराम बामनिया आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close