सीहोर। मौसम में बीते दिनों से उतार चढ़ाव देखा जा रहा था। बीती रात मौसम में हुए बदलाव के बाद हल्की मावठे की बरसात हुई। अभी आसमान पर बादल छाए हुए हैं। मावठे की बरसात से रबी की फसलों को फायदा होगा। किसानों को सिंचाई नहीं करना पड़ेगी तो वहीं फसलों को कीट व्याधियों से भी निजात मिलेगी। इस कारण से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं। जानकारी अनुसार जिले में करीब एक इंच बारिश होने की संभावना जताई जा रही है।

बीते दिनों से मौसम में बदलाव देखा जा रहा था। गुरुवार की रात से शुक्रवार की सुबह तक जिले में हल्की बरसात दर्ज की गई। शुक्रवार दिन भर बादल छाए रहे। हालांकि आसमान पर बादल छाए होने के कारण से ठंड अधिक नहीं रही, लेकिन जैसे ही मौसम साफ होगा। तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी। इससे ठंड में इजाफा होगा। मौसम में आए बदलाव के कारण से शाम ढलते ही सड़कों पर सन्नााटा देखा गया।

बने रहेंगे मावठे के आसार

जिले के तापमान में लगातार उतार चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है। इस संबंध में शहर के आरएके कालेज के मौसम विशेषज्ञ एसएस तोमर ने बताया कि आसमान पर बादल होने के कारण से तापमान में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। दिन का अधिकतम तापमान 25 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि न्यूनतम तापमान 14.8 डिग्री दर्ज किया गया है। आगामी दिनों हल्के मावठे के आसार बने हुए हैं। वहीं तापमान में भी उतार चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है।

फसलों को होगा फायदा

जिले में आज हुई हल्की मावठे की बरसात के बाद किसानों को सिंचाई नहीं करना पड़ेगी। जबकि इस समय रबी की फसल को सिंचाई की आवश्यकता थी। इस संबंध में ग्राम कउडिया में रहने वाले किसान रामसिंह परमार ने बताया कि इस बार बरसात कम होने के कारण से कुओं और ट्यूबवेलों में अभी से पानी कम होने लगा था, वहीं जिन किसानों के पास सिंचाई के पर्याप्त साधन नहीं हैं, उनके खेतों की फसल प्रभावित हो रही थी, लेकिन मावठे से सिंचाई की समस्या हल हो गई। इसका उत्पादन पर भी प्रभाव पड़ेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local