सीहोर। कलेक्टर चन्द्र मोहन ठाकुर ने सैकड़ाखेड़ी स्थित संकल्प वृद्धाश्रम पहुंच कर कुछ समय बुजुर्गों के साथ बिताया। बुजुर्गें ने अपने अनुभव कलेक्टर से साझा किए। इस अवसर पर कलेक्टर ठाकुर ने बुजुर्गों को कंबल वितरित किए और उनके सुदीर्ध जीवन की कामना करते हुए हुए कहा कि सभी वृद्धजन स्वयं को किसी न किसी कार्य में सक्रिय रखें। इससे वे स्वस्थ रहेंगे और मस्तिष्क में नकारात्मक विचार नहीं आएंगे। उन्होंने सभी बुजुर्ग प्रतिदिन पैदल चलने और नियमित दिनचर्या अपनाने के लिए कहा। कलेक्टर ठाकुर ने कहा कि हमारे बुजुर्गों के पास अनुभवों का खजाना है। उनके अनुभव हमारी सफलता में सीढ़ी का काम करते हैं। वे परिवार व समाज की धरोहर हैं, उन्हें संभालकर रखना और उनकी सेवा करना पूरे समाज का दायित्व है। उन्होंने कहा कि हम सभी को इस अवस्था में पहुंचना है। सभी बुजुर्ग अपने परिजनों के साथ रहे फिर भी वृद्धाश्रम की आवश्यकता पडे़ तो वहां का वातावरण ऐसा हो कि वहां रहने वाले बुजुर्गों को परिवार की भांति प्यार मिले और देखरेख हो। इस पुनीत कार्य के लिए संकल्प वृद्धाश्रम के संचालक और इफको को कंबल उपलब्ध कराने के लिए धन्यवाद दिया। इफको कंपनी द्वारा सीहोर जिले में 500 कंबल अस्पताल व अन्य संस्थाओं में वितरित किए गए। इस अवसर पर वृद्धाश्रम के संचालक राहुल तथा इफको के क्षेत्रीय अधिकारी कुमार मनेंद्र उपस्थित थे।

जिंदगी को हां और नशे को न कहें

कलेक्टर ठाकुर ने सैकड़ाखेड़ी नशा मुक्ति केन्द्र में नशा त्यागने आए व्यक्तियों से मुलाकत की और कहा कि नशा त्यागने की दिशा में उनका प्रयास सराहनीय है। उन्होंने कहा कि नशा व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक रूप से खोखला कर देता है। समजा में छवि धूमिल हो जाती है ओर पूरा परिवार बिखर जाता है। उन्होंने कहा कि जब वे नशा मुक्ति केन्द्र से अपने घर जाएं तो मित्रों, संबंधियों और परिचितों द्वारा नशा के आग्रह को ससम्मान मना करें और उन्हे भी नशा न करने के लिए कहें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local