सीहोर। मंगलवार को हिंगलाज माता मंदिर कस्बा से कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा के साथ ही हनुमान फाटक परिसर में श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान गंगा यज्ञ का शुभारंभ किया गया। भागवत भूषण पंडित रविशंकर तिवारी ने प्रथम दिवस भागवत माहात्म और शुकदेव आगमन कथा प्रसंग श्रद्धालुओं को श्रवण कराया। उन्होंने कहा कि कलयुग में भगवान को पाने के लिए भक्त को कठिन तपस्या की आवश्यकता नहीं है कलयुग में केवल प्रभू नाम कीर्तन से ही भगवान मिल सकते है।

पंडित रवि शंकर तिवारी के सानिध्य में मुख्य यजमानों के द्वारा माता हिंगलाज मंदिर में विधिवत समस्त देवी-देवताओं की पूजा अर्चना की गई। मंदिर श्री में पूजा अर्चना के बाद 51 कलशों के साथ कलश यात्रा प्रारंभ की गई। कलश यात्रा में सबसे आगे धार्मिक धुन बजाता बेंडबाजा चल रहा था जिसके पीछे अनेक बालिकाएं सिर पर मिट्टी के कलश लेकर चल रही थी तो अनेक महिलाओं के द्वारा सिर पर दोनें में उपार्जित गेहूं की बालियां लेकर चल रहीं थी। अनेक युवक हाथों में भगवा ध्वज लेकर चल रहे थे। कलश यात्रा में शामिल नंदी महाराज आकर्षण का केंद्र बने हुए थे। कलश यात्रा कस्बा बजरिया मुख्य मार्ग से होती हुई निजामत चौराहा पहुंची यहां से कलश यात्रा हनुमान फाटक मंदिर परिसर पहुंची। कलश यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं का अनेक स्थानों पर नागरिकों के द्वारा पुष्प वर्षा कर स्वागत किया गया। श्रीमद भागवत कथा दोपहर 12 से शाम 4 बजे तक आगामी 17 जनवरी सोमवार तक प्रतिदिन आयोजित होगी। पंडित रवि शंकर तिवारी ने बताया बुधवार को ध्रुव प्रहलाद चरित्र, नृसिंह अवतार और गुरुवार श्री वामन अवतार, रामजन्म श्रीकृष्ण जन्मोत्सव, शुक्रवार को श्रीकृष्ण बाल लीला, गोवर्धन पूजा शनिवार छप्पन भोग, महा रासलीला और रविवार को रुक्मिणी मंगल, विवाहोत्सव होगा। इसी प्रकार सोमवार को सुदामा चरित्र, राजा परिक्षित मोक्ष की कथा श्रद्धालुओं के समक्ष प्रस्तुत की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local