जावर। श्रावणमास के अंतिम सोमवार को नगर व क्षेत्र में भगवान शंकर की विशेष पूजा अर्चना कर वर्षों पुरानी परम्परा के अनुसार हिंदू उत्सव समिति द्वारा नगर में शोभायात्रा निकली गई जिसमें चार स्वरूप में पालकी में सवार होकर भोलेनाथ नगर में भ्रमण के लिए निकले। प्रतिवर्ष अंतिम सोमवार को शोभायात्रा निकाली जाती है। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए युवा भजनों की धुन पर थिरकते हुए नजर आए।

नगर के थाना परिसर स्थित शंकर मंदिर, प्राचीन शिवालय मंदिर, अन्नापूर्णा मंदिर, माता मंदिर, श्रीराम मंदिर व क्षेत्र के प्रसिद्ध देवबड़ला धाम में भगवान बिलकेष्वर महादेव मंदिर में सुबह से ही भक्तों ने पूजा अर्चना का दौर चलता रहा। वहीं शाम को भगवान भोलेनाथ की पालकी नगर में निकाली गई जो नगर के श्रीराम मंदिर से डमरू व झांज की धून के साथ प्रारंभ होकर नगर के मुख्य मार्गों से होती हुई पुनः श्रीराम मंदिर पहुंची। जहां भगवान भोलेनाथ की आरती की गई। शोभायात्रा में मां महिषासुर मर्दिनी माता मंदिर, श्रीराम मंदिर, अन्नापूर्णा मंदिर आदि स्थानों की झांकी शामिल थी। पालकी में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए व लोगों ने अपने-अपने घरों से पालकी की पूजा अर्चना की गई, वहीं पालकी में भागवान भोलेनाथ, हनुमान, गणेष, श्री कृष्ण के स्वरूप आकर्षक का केन्द्र रहे। पालकी के दौरान अखाड़े के उस्तादों ने विभिन्ना प्रकार के करतब दिखाए। शोभायात्रा के दौरान हिंदू उत्सव समिति अध्यक्ष ठाकुरसिंह ठाकुर का मुस्लिम त्यौहार कमेटी सहित अन्य संगठनों द्वारा स्वागत किया गया। पालकी के दौरान तहसीलदार शेखर चौधरी, नगर निरिक्षक मदन इवने भी उपस्थित रहे। श्रावणमास में अन्नापूर्णा मंदिर स्थित शिवालय पर ब्रम्ह मुहुर्त में सामाजिक लोगों द्वारा भगवान शंकर की ज्योर्तिलिंग पर अभिषेक के साथ बिल्बपत्र, आकड़े, फूल, द्रोप, चंदन आदि से उनका श्रृगांर कर आरती की जा रही है व साज सज्जा के साथ हर हर महादेव की आवाज गुंज रही है। महामृत्यूंजय मंत्र के साथ भक्तगण द्वारा जप व आराधना भी की गई। इसी तरह ग्राम मेहतवाड़ा में श्रद्धालु नेवज नदी के किनारे स्थित विराजमान भगवान भोलेशंकर के मंदिर पहुंचे। जहां पूजा अर्चना की गई। श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना कर अभिषेक किया। जावर तहसील से लगभग 10 किमी दूर गांव मुरावर स्थित नेवज-दुधी नदी के संगम स्थल पर प्राचीन शिव मंदिर जहां सावन सोमवार को सैंकड़ो श्ऱद्धालु पहुंचे। जहां पर हर-हर महादेव, शिव शंभू के जयकारों से गूंजा मुरावर का शिव मंदिर, जो लोंगो की आस्था का केन्द्र है।

क्षेत्र के शिवालयों में गूंजे हर-हर महादेव

ग्राम कजलास, गुराडिया वर्मा में श्रावण मास के अंतिम सोमवार को शिवालय मंदिर पर श्रृद्धालुगणों की उपस्थिती में रूद्ध अभिषेक किया जा रहा है। विधिविधान से पूजा अर्चना कर आरती की गई तथा वैसे तो पूरे श्रावण मास में शिवालयों पर भक्त गण भगवान शंकर की ज्योर्तिलिंग पर अभिषेक के साथ बिल्ब पत्र, आकड़े, फूल, द्रोप, चंदन आदि से उनका श्रृगांर कर आरती की जा रही है व साज सज्जा के साथ हर हर महादेव की आवाज गुंज रही है। महामृत्यूंजय मंत्र के साथ भक्तगण द्वारा जप व आराधना की जा रही है। सोमवार को भगवान शंकर की झाकी बनाकर नगर व ग्रामीणों में भजन के साथ भ्रमण किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close