आष्टा। राष्ट्रीय हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी साहित्य व विभिन्न हिंदी भाषा प्रतियोगिता पत्रिकाओं, ज्ञानवर्धक साहित्य अदालत रोड स्थित सार्वजनिक वाचनालय में उपलब्ध रहेंगे। नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष कै लाश परमार ने बताया कि राष्ट्रीय हिंदी दिवस के अवसर पर इन सुविधाओं का विमोचन नगर के विभिन्न वरिष्ठ व युवा साहित्यकारों की महती उपस्थिति में 14 सितंबर शनिवार को शाम 3 बजे कि या जाएगा। नपाध्यक्ष श्री परमार ने नगर व आसपास के सभी वरिष्ठ व युवा साहित्यकारों, कवियों, पत्रकारों, जनप्रतिनिधियों, महिलाओं व युवाओं से आग्रह कि या है कि उक्त कार्यक्रम में उपस्थित होकर राष्ट्रीय हिंदी दिवस को मनाएं।

0000000000

बाटम

कार्यालय के भवन के लिए नपा को मिली दो एकड़ भूमि

- चार करोड़ की लागत से बनेगा सर्वसुविधा युक्त कार्यालय भवन

फोटो 10 आष्टा। इस स्थल पर बनेगा नगरपालिका का नया भवन। नवदुनिया

आष्टा। नवदुनिया न्यूज

शासन ने नगर पालिका के नए भवन के लिए दो एकड़ भूमि आवंटित कर दी है। चार करोड़ की लागत से जीनिंग फै क्ट्री की जमीन पर यह भवन बनेगा। यह भूमि तत्कालीन राज्य शासन ने लीज रेंट पर उपलब्ध करवाई थी। अब यह जमीन निशुल्क उपलब्ध हुई है।

ज्ञात हो कि इस जमीन का लीज रेंट की प्रीमियम राशि लगभग एक करोड़ रुपए हो रही थी। जिसे देखते हुए सीमित आर्थिक संसाधनों के कारण नगरपालिका को अपने कार्यालय भवन के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। 11 जुलाई को नपाध्यक्ष कै लाश परमार ने मध्यप्रदेश शासन के मुख्य सचिव सुधीरंजन मोहंती से मंत्रालय कक्ष में भेंटकर वस्तुस्थिति से अवगत कराया था और उक्त भूमि को निशुल्क नपा आष्टा को प्रदान करने का अनुरोध कि या था। उनके आदेश पर प्रमुख सचिव मध्यप्रदेश शासन राजस्व विभाग द्वारा खसरा नंबर 117 रकबा 5.143 हेक्टेयर में से 0.802 हेक्टेयर भूमि लगभग दो एकड़ भूमि को कार्यालय भवन के लिए नगरपालिका को निशुल्क आवंटित कर दी है। जिसके बाद नगरपालिका को अपना स्वयं का कार्यालय भवन बनाने के लिए रास्ता आसान हो गया है।

नपाध्यक्ष कै लाश परमार ने बताया कि उक्त कार्यालय भवन दरगाह के सामने स्थित जीनिंग फै क्ट्री की जमीन में निर्मित कि या जाएगा जो कि नगरपालिका द्वारा निर्माणाधीन स्वीमिंग पुल प्रोजेक्ट के पास ही बनेगा। कार्यालय भवन दो मंजिला होगा जिसमें राजस्व शाखा, लोक निर्माण शाखा, लेखा शाखा, भंडार शाखा, स्वास्थ्य शाखा, बिजली विभाग, जलशाखा, फायर सेक्शन, स्थापना शाखा, योजना शाखा के लिए अलग-अलग व्यवस्थित कक्षों का निर्माण होगा। वहीं अध्यक्ष, सीएमओ के साथ ही उपाध्यक्ष व नेताप्रतिपक्ष का भी अपना एक अलग कक्ष होगा। चूंकि भविष्य में नगर में 24 वार्ड से जनप्रतिनिधि चुनकर आने है ऐसे में 24 पार्षदों के लिए भी पृथक से व्यवस्थाएं की जाएगी। नागरिकगणों को असुविधा न हो इसके लिए कार्यालय भवन में ही प्रतिक्षा कक्ष का भी निर्माण होगा। भवन में रिसेप्शन एरिया के अलावा इंजीनियर, असीसटेंट इंजीनियर आदि के लिए भी अलग कक्ष होंगे।

प्रथम तल पर तकनीकी अमला

प्रथम मंजिल पर जाने के लिए लिफ्ट की भी सुविधा रहेगी। प्रथम मंजिल पर ऑडिट सेक्शन के साथ ही सुसज्जित परिषद हाल का भी निर्माण कि या जाएगा। पीआईसी बैठक के लिए अलग कक्ष का निर्माण होगा, साथ ही योजना को समझने के लिए या अन्य तकनीकी जानकारियों को प्राप्त व प्रदान करने के लिए कॉन्फ्रेंस हॉल की भी सुविधा रहेगी। इसी माले पर तकनीकी विभाग, जलशाखा, लेखा शाखा व स्थापना शाखा मौजूद रहेंगे। जो बिना व्यवधान के अपना कार्य आसानी से कर सकें गे।

नागरिकगणों के लिए विशेष सुविधा

जनप्रतिनिधियों का सीधा जुड़ाव जनता से रहे और वह अपनी समस्या बिना हिचकि चाहट से अध्यक्ष, पार्षदगण व मुख्य नगरपालिका अधिकारी को बता सकें इसके लिए कार्यालय भवन में प्रवेश द्वार के दोनों ओर उपरोक्त जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण के कक्ष मौजूद रहेंगे। कार्यालय भवन में नामांतरण, समग्र आईडी, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र व संपत्ति कर आदि जमा कराने आने वाले लोगों के लिए भी अलग ही व्यवस्था रहेगी, जिससे आमजन को असुविधा न हो। नागरिकों की सुविधा के लिए कम्प्यूटर शाखा, एनयूएमएल शाखा, पेंशन शाखा के साथ ही स्वच्छता से जुड़े महकमे के साथ ही आवक-जावक के लिए भी पृथक व्यवस्था की गई है। सभी लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध हो सकें इसके लिए जल शुद्धिकरण यंत्र भी मौजूद रहेगा।

सौर ऊर्जा से संचालित होगा कार्यालय भवन

दो एकड़ के इस विशाल क्षेत्रफल में चार करोड़ की लागत से बनाए जा रहे भवन में पर्यावरण को दृष्टिगत रखते हुए भवन के ठीक सामने दो पार्को का भी निर्माण होगा। उक्त पार्क में कार्यालय भवन से निकलने वाले पानी से ही सिंचित कि या जाएगा। परिसर में बूंद-बूंद पानी सहजने के लिए वॉटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम भी मौजूद रहेगा। इसी के साथ कार्यालय भवन से निकलने वाला कचरा और पार्क से निकलने वाले कचरे से परिसर में ही खाद का निर्माण होगा जिसका उपयोग दोनों पार्को में होता रहेगा। गंभीर पेयजल के संकट में 20 दिन तक भी अगर पानी प्राप्त नहीं हुआ तो कार्यालय भवन को 20 दिन तक पानी की पूर्ति होती रहेगी इसके लिए एक अलग से ही टेंक का निर्माण कि या जाएगा। संपूर्ण परिसर सौर ऊर्जा से संचालित होगा। जिसकी वजह से बिजली का खर्च न के बराबर रहेगा। कार्यालय भवन में ज्यादा बिजली खर्च न हो इसका भी विशेष ध्यान रखा गया है और बिल्डिंग इस तरह से बनाई जाएगी कि उसमें चारों ओर से दिन में रोशनी रहे।

कै मरे लगेंगे, पार्किंग व्यवस्था होगी

आमजन के लिए जहां पृथक से पार्किंग की व्यवस्था रहेगी, वहीं अधिकारी व कर्मचारियों के लिए पार्किंग की अलग व्यवस्था रहेगी, अध्यक्ष, सीएमओ के साथ ही विशेष आगंतुक के लिए पृथक से पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। इस विशाल परिसर में आने व जाने के लिए अलग-अलग रास्ते होंगे। आगजनी की घटना से भवन सुरक्षति रहे इसके लिए फायर अलार्म सिस्टम भी नपा भवन में लगाया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से चारों ओर ऊंची दीवारों का भी निर्माण कि या जाएगा और 24 घंटे सिक्युरिटी गार्ड भी मौजूद रहेगा, जिसकी सुरक्षा चौकी भी कार्यालय भवन परिसर में मौजूद रहेगी। समूचे भवन, गलियारे और परिसर में 24 घंटे सीसीटीवी कै मरों से नजर रखी जाएगी।

0000000000000