Navratri 2022: सीहोर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नवरात्र में विजयासन देवी के दर्शन और पूजा-अर्चना के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का सलकनपुर आगमन होता है। मां विजयासन धाम सलकनपुर में सोमवार से प्रारंभ होने वाले शारदीय नवरात्र पर्व के दौरान बेहतर व्यवस्थाएं की गई हैं। पहले दिन करीब 50 हजार श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान है। दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो और सुविधाजनक ढंग से पूजा-अर्चना कर सकें इसके लिए विशेष इंतजाम किए हैं। पार्किंग, जल, साफ-सफाई, पर्याप्त बिजली व्यवस्था के अलावा प्रमुख स्थानो पर सीसीटीवी कैमरे, कंट्रोल रूम करीब 100 पुलिस कर्मियों व सीढ़ी मार्ग, मंदिर परिसर आदि में अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

सोमवार से शुरू हो रहे नवरात्र में सलकनपुर धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं के लिए विशेष इंतजा किए हैं। यहां पेयजल के लिए पीने के लिए पानी की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। चलित शौचालय भी स्थापित किए गए हैं। सीढ़ी मार्ग पर श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो इसके लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। मार्ग पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर ने स्थानीय नागरिकों, दुकानदारों और सलकनपुर देवी धाम आने वाले श्रद्धालुओं से स्वच्छता बनाए रखने में सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि कचरा निर्धारित स्थल पर लगे डस्टबिन में ही डालें। साथ ही सलकनपुर में आने वाले श्रद्धालुओं से अनुरोध किया है कि वो व्यवस्था को बनाने के लिए सलकनपुर ट्रस्ट एवं जिला प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करे। नवरात्र में आने वाले भक्तों की सुविधा के लिए मंदिर परिसर में हेल्थ कैंप लगाया जाएगा। हेल्थ कैम्प में आवश्यक दवाएं तथा एंबुलेंस की व्यवस्था भी रहेगी। आवश्यकता पड़ने पर श्रद्धालुओं को तत्काल चिकित्सा के लिए डाक्टर सहित पूरी टीम उपलब्ध रहेंगी।

कंडम वाहन पर प्रतिबंध

कंडम वाहन और गैस से चलने वाले वाहनों पर प्रतिबंध लगाने के साथ हेल्थ कैंप लगाने के लिए भी कहा। कलेक्टर ठाकुर ने बाहर से आने वाले वाहनों की पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान, मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के आगमन तथा निर्गम की उत्कृष्ट व्यवस्था के साथ ही पर्याप्त संख्या में अधिकारियों-कर्मचारियों की ड़यूटी लगाई गई है।

पांच बार होगी आरती, रात 12.30 बजे होंगे पाट बंद

सुबह 5.30, 9.30, दोपहर 11.30, शाम 7.30, रात 9.30 और 12.30 इसके बाद मंदिर के पाट बंद हो जाएंगे।

नौ दिन चलेगा सप्तशती पाठः नवरात्र में प्रतिदिन मां विजयासन का दुर्गा सप्तशती पाठ होगा, जिसमें 108 ज्योति प्रज्वलित होंगी।

इस बार छह जगह होगी पार्किंग

दर्शन करने आने वालों के वाहनों के लिए छह जगह पार्किंग की व्यवस्था रखी गई है। इनमें मंदिर के पास ऊपर वाहनों को खड़ा किया जा सकेगा। यहां पर करीब 300 छोटे-बड़े वाहनों को खड़े कराने की व्यवस्था रहेगी। मुख्य पार्किंग के अलावा एक शिव मंदिर के पास व एक स्लाइडर गेट के पास वाहन पार्क कर सकेंगे। जबकि नीचे भी तीन पार्किंग रहेंगी, जिसमें सलकनपुर में जहां हेलीपेड बना है वहां पर भी पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही पुलिस चौकी के पास खाली पड़े मैदान में दो जगह पार्किंग रहेगी।

सुबह चार से रात दस बजे तक रोप-वे चालू रहेगा

सलकनपुर में सीड़ी और सड़क के अलावा मंदिर पहुंचने का तीसरा विकल्प रोप-वे है। नवरात्र में भक्तों के लिये रोप-वे भी उपलब्ध रहेगा। रोप-वे सुबह चार बजे से शुरु होगा और रात 10 बजे इसे बंद कर दिया जाएगा। रोप-वे में दो बोगी लगी हुई है, जिसमें एक साथ 12 लोग दोनो बोगी में जा सकते हैं। रोप-वे से यात्रा करने लिए श्रद्धालुओं को प्रति व्यक्ति नवरात्र पर 110 रुपए खर्च करने होंगे।

नवरात्र पर कलश स्थापना और पूजा के शुभ मुहूर्त

आश्विन नवरात्र की प्रतिपदा तिथि 26 सितंबर सोमवार को सुबह तीन बजकर 23 मिनट से शुरू हो जाएगी जो 27 सितंबर को सुबह तीन बजकर आठ मिनट पर खत्म होगी।

-सुबह 6 बजकर 11 मिनट से लेकर 7 बजकर 51 मिनट तक रहेगा।

-अभिजित मुहूर्तः दोपहर 12.06 से 12.54 तक रहेगा।

-विजय मुहूर्तः दोपहर 02.30 से 03.18 तक।

-गोधूलि मुहूर्तः शाम 06.19 से 06.43 तक।

-साया- सन्ध्याः शाम 06.31 से 07.43 तक।

नवरात्र के शुभ योगः शुक्ल योग सुबह 08.05 तक, उसके बाद ब्रह्म योग।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close