सीहोर, नवदुनिया प्रतिनिधि। नेमावर हत्याकांड के सात महीने बाद जहां राज्य सरकार ने सीबीआई जांच की अनुशंसा कर दी थी, लेकिन पीड़ित परिवार की युवती ने दोषियों को फांसी की सजा की मांग को लेकर नेमावर से न्याय के लिए पदयात्रा शुरू कर दी है, जाे मंगलवार को जिले के रेहटी पहुंची। इस दौरान भारती कास्डे ने कहा कि न्याय यात्रा का उद्देश्य न्याय पाना है। जब तक हमारे परिवार को न्याय नहीं मिल जाता तब तक हमारी न्याय यात्रा जारी रखेंगे। न्याय सिर्फ सीबीआई जांच करने से नहीं होता। जब तक दरिंदों को फांसी के फंदे पर लटकता नहीं देख लेते तब तक चुप नहीं बैठेंगे। जब हम सामाजिक संगठन लगातार सीबीआई की जांच की मांग करते रहे तब सीबीआई जांच की बात आगे बढ़ी। न्याय यात्रा में आदिवासी सहित अन्य दलों के नेता शामिल हैं। नेमावर से जारी न्याय यात्रा 11 जनवरी को भोपाल पहुंचेगी, जहां भारती कास्डे राज्यपाल मंगू भाई पटेल से मिलेगी। बेटी की मांग है कि हर हाल में उसे न्याय दिलवाया जाए और आरोपितों को फांसी दी जाए।

मध्यप्रदेश के देवास जिले के नेमावर में हुए सामूहिक हत्याकांड में जिंदा बची भारती ने न्याय यात्रा शुरू कर दी है। 11 दिनों तक भ्रमण करने के बाद ये यात्रा भोपाल पहुंचेगी, वहीं मंगलवार को सीहोर जिले के रेहटी पहुंची, जिसके साथ आदिवासी समाज के लोगों सहित कांग्रेस अन्य दलों के नेता भी साथ चल रहे हैं। जगह-जगह पद यात्रा को रोककर अपनी मांग से लोगों को भारती अवगत करा रही है। भारती की मांग है कि उसे न्याय चाहिए और इसके लिए वो आरोपितों को फांसी की मांग कर रही है। यात्रा प्रतिदिन करीब 15 किमी का सफर तय कर रही है। 11वें दिन यात्रा भोपाल राजभवन पहुंचेगी और सीएम का ध्यान उक्त मामले की तरफ आकर्षित कराएगी। भारती ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सात महीने से हम न्याय के लिए भटक रहे थे, तब सरकार ने सीबीआई जांच के आदेश नहीं दिए। जब हमने यात्रा निकालने का एलान किया, तो ये आदेश दिया गया। आगे से किसी दलित परिवार के साथ ऐसा न हो, इसलिए भी हम यात्रा निकाल रहे हैं। ज्ञात हो कि भारती न्याय के लिए 190 किमी की पदयात्रा कर रही है।

यह है पूरा मामला

13 मई को प्रेम प्रसंग के चलते एक आदिवासी परिवार के पांच लोगों की हत्या कर दी थी और उनके शवों को 10 फीट गहरे गड्ढे में दबा दिया गया था। जुलाई में इस हत्याकांड का खुलासा हुआ था। लगातार पीड़ित परिवार की तरफ से सीबीआई जांच की मांग की जा रही थी। जय आदिवासी युवा शक्ति (जयस), गोंडवाना गणतंत्र पार्टी और कांग्रेस भी इस मसले पर लगातार राज्य सरकार को घेर रहे हैं। इंटरनेट मीडिया पर पहले तो सीबीआई जांच को लेकर अभियान चलाया हुआ था। इसके बाद अब सीबीआई जांच के आदेश के बाद भी परिवार की बेटी भारती कास्डे नेमावर से भोपाल तक न्याय यात्रा निकाल रही है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local