आष्टा। भागवत कथा के पांचवे दिन व्यास पीठ पर विराजित कथा वाचक पंडित गीताप्रसाद शर्मा ने उपस्थित भक्तों को कथा के माध्यम से बताया कि गुरु अगर सही है तो वो अपने भक्तों को सही मार्ग बताते है। जिस प्रकार बिजली का तार सही जगह लगाया जाता है, तो बल्ब रोशनी देता है, उसी प्रकार सही गुरु मिलने पर ही भक्तों का उद्धार सम्भव है। गुरुदेव ने बताया कि बाबा नंद के घर भगवान श्री हरि का जन्म कृष्ण रूप में होता है। सभी भगवान के उनके बाल रूप के दर्शन करने के लिए वहां पहुंचते हैं। जब प्रदुम आता है, लेकिन माता उनके दर्शन भगवान को नहीं करने देती है, तब भगवान दर्शन के लिए हट पड़ जाते हैं उधर भगवान कृष्ण अपनी लीला रचाते हैं और खूब रुदन करने लगते हैं तब यत्व प्रयत्न करने पर भगवान हर शिव को श्री हरि के दर्शन होते है,राम नाम सत्य है। प्रेम से नाता जोड़ो, राम का नाम ही सत्य है ,बाकी सब बेकार की बाते है। त्रिलोकी के नाथ जब भगवान श्रीराम के अवतार में आए तब वे 14 कला साथ लेकर आये थे, जब श्रीकृष्ण के अवतार में भगवान आये तो 16 कला लेकर आए थे। पंडित शर्मा ने कहा मां बड़ी ही ममतामयी होती है, जिसने मां की कद्र नहीं की उसकी जिंदगानी जिंदगी नहीं है। कथावाचक श्री शर्मा ने भक्तों से कहा 24 घंटे में एक घड़ी नहीं तो आधी घड़ी भगवान के स्मरण, उसकी भक्ति के लिए जरूर निकाले और प्रभु का स्मरण करें। भगवान कृष्ण की लीलाओं का चित्रण करते हुए उन्होंने सुनाया की जब गोपियां कृष्ण की शिकायत लेकर मां के पास पहुंचे तब कन्हैया ने यशोदा मैय्या से कहा ये गोपिया बहुत झूठ बोलती है। भगवान ने जो लीलाए की थी वो भक्तों की कमियों को दूर करने के लिए रची थी। किस तरह भगवान कृष्ण ने अपनी शिकायत करने पहुंची गोपियों को वे किस तरह परेशान करते थे उसका सुंदर चित्रण आज कथा के माध्यम से सुनाया। गुरुजी ने नगर में प्रातः निकलने वाली प्रभात फेरी में नागरिकों को शामिल होने, प्रभु कीर्तन का आह्वान किया उन्होंने कहा में यहां साधन की नहीं साधना की चर्चा कर रहा हूं, जिसके साथ साधना है वो बिना साधन के भी पार लग जाएगा। मकान पर कलर पेंटर करता है, विचार करना फूलो पर कलर करने कौन आता है।

पूरी भागवत कथा ही विचार करने की कथा

पूरी भागवत कथा ही विचार करने की कथा है। लीलाधारी की लीला बड़ी ही अपरम्पार है। भक्ति करो और परमात्मा से जरूर रुबरु होओ। आज विधायक रघुनाथसिंह मालवीय, जनपद प्रधान धारासिंह पटेल कथा श्रवण करने पहुंचे। आज वार्ड 18 के सभी भाजपा कार्यकर्ताओं की ओर से पंकज नाकोड़ा, सुशील संचेती, प्रतिभा नागर ने कथा वाचक गीताप्रसाद शर्मा, कथा आयोजक प्रेमकुमार-साधना राय,डॉ कुणाल-सपना राय, राजा पारख आदि का स्वागत सम्मान, अभिनन्दन किया। विधायक व जनपद प्रधान ने पगड़ी पहना कर सम्मान किया। आज अन्य संस्थाओं संगठनों की ओर से पारसमल सिंघवी, विजय देशलहरा, लोकेंद्र बनवट, आनन्द रांका, कन्हैयालाल शर्मा, सिद्धांत जायसवाल, पंकज राठौर, कृपालसिंह ठाकुर सहित अनेको भक्तों ने पंडित जी का स्वागत सम्मान किया। भागवत कथा में शुक्रवार को साधना प्रेम कुमार राय, सपना कुणाल राय, आरव राय ने व्यासपीठ का पूजन कर व्यासपीठ पर विराजमान कथावाचक पंडित शर्मा से आशिर्वाद लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local