सीहोर। जिले के मौसम में एक बार फिर बदलाव देखा जा रहा है। तापमान में उतार चढ़ाव बना हुआ है। रात के तापमान में गिरावट आने के कारण से ठंड में इजाफा हो रहा है। वहीं फसलों को बचाने के लिए किसानों को उचित सलाह दी गई है। वहीं जिले के रहवासियों को अभी ठंड से राहत नहीं मिलेगी। शीतलहर का प्रकोप लगातार जारी रहेगा।

जिले के तापमान में बार बार बदलाव देखा जा रहा है। बीते दिनों से तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। वहीं आसमान पर हल्के बादल छाए रहे, आगामी दिनों में आसमान पर बादल छाए रहेंगे तो वहीं तापमान में आ रहे उतार चढ़ाव के कारण से मौसमी बीमारियों में भी इजाफा हो रहा है, खास कर सर्दी जुकाम के मरीज सबसे अधिक सामने आ रहे हैं। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा मौसमी बीमारियों से बचाव की सलाह दी है।

तापमान में गिरावट जारी

बीते दिनों से तापमान में लगातार उतार चढ़ाव की स्थिति बनी हुई है। इस संबंध में शहर के आरएके कालेज के मौसम विशेषज्ञ एसएस तोमर ने बताया कि जिले में दिन अधिकतम तापमान 21.5 डिग्री तो वहीं न्यूनतम तापमान 8.7 डिग्री दर्ज किया गया है। वहीं आगामी दिनों आसमान पर लगातार बादल रहेंगे, सुबह से ठंडक की स्थिति रहने के कारण से बाजार में भी आवाजाही कम रही तो वहीं शाम ढलते ही सड़कों पर सन्नााटा देखा गया।

किसानों को दी सलाह

किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने बताया कि सर्दी के मौसम में पानी का जमाव हो जाता है। जिससे कोशिकाएं फट जाती है व पौधों की पत्तियॉ सूख जाती हैं। परिणामस्वरूप फसलों में भारी क्षति हो जाती है। कृषि विकास विभाग ने बताया कि पाले के प्रभाव से पौधों की कोशिकाओं में जल संचार प्रभावित होता है। प्रभावित फसल अथवा पौधे का बहुभाग सूख जाता है। जिससे रोग व कीट का प्रकोप बढ़ जाता है। पाले के प्रभाव से फल व फूल नष्ट हो जाते है। सब्जी फसल पाला आने से अधिक प्रभावित होती है व पूर्णतः नष्ट हो जाती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local