सीहोर। जब लॉकडाउन लगा हुआ थाए, उस दौरान जरूरतमंदों तक बिना सरकारी मदद के राहत सामग्री पहुंचाने का काम हमारे शहर के सबसे बड़े समाजसेवी ऊंगली ग्रुप के सदस्यों और समर्थकों ने किया। कोरोना वायरस के खौफ से जब लोग घरों में बैठे हुए थे उन लोगों के अलावा बाहर से घर वापसी कर रहे मजदूरों को भोजन उपलब्ध कराने का जो निःस्वार्थ कार्य किया, उसके लिए ग्रुप का हर सदस्य, समर्थक और सहयोगदाता धन्यवाद का पात्र है।

उक्त बात शहर के भोपाल नाका स्थित कार्यमंगलम गार्डन में ग्रुप के दीपावली मिलन के दौरान वरिष्ठ समाजसेवी केके मिश्रा ने कही। उन्होंने कहा कि रक्तदान महादान है। इसको सफल बनाने के लिए ग्रुप के सभी सदस्यों का सम्मान करना हमारी जिम्मेदारी है। क्योंकि जब भी किसी जरूरतमंद को रक्त की जरूरत होती है, तो एक मैसेज पर तत्काल ग्रुप के युवा पहुंच जाते है। इस संबंध में जानकारी देते हुए ग्रुप के सह एडमिन आशीष रजोरिया आशु ने बताया कि रविवार को आयोजित ऊंगली ग्रुप की बैठक में हर वर्ग, हर धर्म और क्षेत्र के सभी समाजसेवी मौजूद थे। बैठक के दौरान शहर में गंदगी, स्वास्थ्य और शिक्षा आदि समस्याओं के बारे में चर्चा की गई। जिसमें सर्व सम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया है। आगामी दिनों में शहर में व्याप्त समस्याओं की सूची बनाकर एक ज्ञापन दिया जाएगा और अगर 15 दिनों में इन समस्याओं का निदान नहीं हुआ तो आंदोलन किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस