आष्टा। आष्टा में एसटीएफ-इंदौर और एसटीएफ भोपाल ने की बड़ी कार्रवाई। प्रतिबंधित प्रजाति के 28 नग तोतों के साथ तस्कर भी हिरासत में। वन विभाग ने तीनों को कोर्ट में पेश किया गया।

अभी तक तो आष्टा नगर में गो तस्कर, गांजा तस्कर और सोना-चांदी तस्कर, चंदन तस्कर पकडाते आए है, लेकिन तस्करी में आष्टा के नाम आज एक और अवार्ड दर्ज हुआ है, जिसमें इंदौर एसटीएस और भोपाल एसटीएफ की संयुक्त कार्रवाई में 28 नग प्रतिबंधित पहाड़ी तोते के साथ तीन तस्कर भी पकड़े गए, लेकिन बड़ी बात यह है कि वन विभाग को जब पता चला जब उन्हें मामला सौंपा गया, तो पता चला यह तस्कर आष्टा के ही रहने वाले हैं और कबसे यह काम कर रहे है। वन विभाग पर सवालिया निशान खड़े करते हैं। वन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार आष्टा बायपास से एसटीएफ भोपाल और एसटीएफ इंदौर और आष्टा वन विभाग का स्टाफ़ प्रतिबंधित प्रजाति के पक्षियों का व्यापार करने वाले तीन तस्करों को बिस्मिल्लाह ढाबे के पास से पकड़ा गया। तीनों आरोपित आष्टा के शेखपुरा के रहने वाले हैं। आरोपितों के पास से 28 नग परिंदे और दो बाइक भी जब्त की गई है। इन पर वन्य प्राणी अधिनियम के तहत कार्रवाई कर आरोपितों को विद्वान न्यायाधीश आयुषी गुप्ता के न्यायालय में पेश किया, वहां से तीनों को जेल भेजा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस