सीहोर। प्रवचन में राजनेताओं के जिक्र से सियासत होना शुरू हो गई है। यह सियासज मशहूर कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा के प्रधानमंत्री मोदी का कथा में जिक्र करने से शूरू हुई है। यह पहला मौका नहीं है जब प्रदीप मिश्रा की कथा के कारण सियासत हो रही हो। उनकी कथा और उनका आश्रम सियासत का अखाड़ा बनता जा रहा है। उनके रुद्राक्ष वितरण कार्यक्रम में हुई सियासत के बाद से अब उनकी कथाओं में सियासत होना आम होता जा रहा है। इस बार उनकी कथा में प्रधानमंत्री मोदी का जिक्र होने से सियासत शुरू हुई है। वे कई बार अपनी कथा में पीएम मोदी का जिक्र कर चुके हैं। प्रवचन में पीएम मोदी की तारीफ करने पर कांग्रेस ने उसे निशाने पर ले लिया है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ने ट्वीट कर प्रदीप मिश्रा पर निशाना साधा था। पूर्व सीमए दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि माननीय मशहूर कथा वाचक प्रदीप मिश्रा से बड़ी विनम्रता से पूछना चाहता हूं कि मोदी प्रसंग हमारे किस धार्मिक ग्रंथ का अंग है, सनातन धर्म जिसे अब हिंदू धर्म भी कहा जाता है हजारों साल पुराना है। अनंत है। आपके यह वचन हमारे सनातन धर्म उसकी मान्यता, परंपराए संस्कार व संस्कृति के विरुद्ध हैं। आप धार्मिक कथा कह रहे हैं या मोदी जी का प्रचार कर रहे हैं। बता दें कि प्रदीप मिश्रा ने प्रवचन में पीएम मोदी का जिक्र किया था। कहा था कि सभी मोदी जी के पीछे पड़े रहते हैं, पीएम हैं तो हिंदू हैं, वो नहीं होगा तो रोते रहोगे। भगवान से प्रार्थना करना कि ऐसा पीएम सबको मिले।

ट्वीट वार हुई शुरू

इधर दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि हिंदुओं के हित में कोई काम करता है या बोलता है तो मुस्लिमों से ज्यादा दर्द दिग्विजय सिंह को होता है। दिग्विजय सिंह और कांग्रेस ने कभी ने हिंदुओं को लेकर एक भी काम नहीं किया है। किस मुंह से साधु, संत, कथावाचक कांग्रेस की तारीफ करेंगे। क्यूंकि कांग्रेस ने हमेशा हिंदुओं के खिलाफ काम कर रहे हैं। दिग्विजय सिंह अब जाली वाली टोपी का राज खत्म हो गया है, अब जय श्री राम का राज चालू है। जो हिंदू हित का काम करेगा वही देश में राज करेगा। वहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह वही दिग्गी है जो जाकिर नायक को शांतिदूत कहते है और हिंदू लोगों को अपमानित करते हैं। राममंदिर के भूमिपूजन पर सवाल खड़े किए थे। इन्होंने तो पूरी कांग्रेस को घर बैठा दिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close