सीहोर। देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए सैनानियों को शहीद समाधी स्थल पर गुरुवार को नागरिकों ने श्रद्घांजलि अर्पित की। इस अवसर पर संगीतिका संगीत महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा देशभक्ति गीतों की आकर्षक प्रस्तुति दी गई।

शहीद सिपाही बहादुर स्मारक निर्माण समिति के आह्वान पर आज समाधी स्थल पर आयोजित श्रद्घांजलि कार्यक्रम में बड़ी संख्या में शहर के समाजसेवी, राजनेता, पत्रकार, प्रशासनिक अधिकारी, पुलिस विभाग, नागरिकगण पहुंचे थे। सभी ने सामुहिक रूप से यहं क्रांतिकारी सैनिकों को पुष्पांजली अर्पित की। सर्वप्रथम समिति अध्यक्ष ओमदीप ने सभी उपस्थित जनों से समाधी पर पुष्पांजली अर्पित कराई। इसके बाद आनन्द गांधी ने 1857 की क्रांति के इतिहास का स्मरण किया और बताया कि इतिहासकारों ने सीहोर की क्रांति को मालवा का जालियावाला बाग काण्ड लिखा है। यहां 14 जनवरी 1858 को जनरल ह्यूरोज ने सामुहिक रूप से करीब 356 से अधिक क्रांतिकारियों को एक साथ गोलियों से भून दिया था। यह इतिहास दिल्ली गजट 1858, किताब हयाते सिकंदरी सहित सभी ऐतिहासिक किताबों में उल्लेखित है। शहीदों को श्रद्घांजलि देते हुए पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष जसपाल सिंह अरोरा ने समिति के आयोजकों को धन्यवाद दिया। साथ ही शहादत को याद करते हुए कहा कि हमें गर्व है कि हम इस धरती पर पैदा हुए हैं। जहां ऐसे महान क्रांतिकारियों ने देश के लिए अपना सर्वस्व बलिदान कर दिया था। कार्यक्रम को कांग्रेस अध्यक्ष बलवीर तोमर तथा रामनारायण ताम्रकार ने भी संबोधित किया। संगीतिका संगीत महाविद्यालय के छात्रों की सुमधुर गीतों की प्रस्तुति पर उन्हे श्री अरोरा ने अपनी और से 11 सौ रुपये का पुरुस्कार प्रदान किया। गुरुवार को नगर पुलिस अधीक्षक दीपक नायक और कोतवाली टीआई नलिन बुधोलिया, मुख्य नगर पालिका अधिकारी संदीप श्रीवास्तव ने भी शहीदों को नमन करते हुए पुष्प अर्पित किए। यहां थाना कोतवाली टीआई नलिन बुधोलिया ने अपनी और से संगीतिका संगीत महाविद्यालय प्रभारी मांगीलाल ठाकुर व सभी बच्चों को बहुत प्रसन्नाता से एक हजार रुपये पुरुस्कार स्वरुप प्रदान कर उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। गुरुवार को समाधी स्थल पर क्रांति का इतिहास लिखे हुए पत्थर को लगवाने के लिए नगर पालिका अध्यक्ष अमीता अरोरा ने समिति को प्रेरित किया तथा जो भी खर्च होगा करने की स्वीकृति दी। श्रद्घांजलि देने में नगर के हर वर्ग के जनप्रतिनिधि, अधिकारी वर्ग, समाजसेवी, स्थानीय नागरिक, बुजुर्ग, महिलाएं अनेक सामाजिक संस्थाएं आदि लोग उपस्थित थे। अंत में सभी ने दो मिनिट का मौन रखकर शहीदों को श्रद्घांजलि दी। समिति ने नगर पालिका को कार्यक्रम स्थल पर व्यवस्था कराने के लिये आभार प्रकट किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस