आष्टा। कोरोना की दूसरी लहर में पॉजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। कस्बे में अप्रैल माह के आठ दिन में ही 70 पॉजिटिव मरीज निकल चुके हैं। एक युवक की आज मौत भी हो चुकी है। इसके बाद भी लोग कोरोना की गंभीरता से न समझते हुए लापरवाही बरत रहे हैं। शहर के मुख्य बाजार, दुकानों, शासकीय कार्यालयों और बैंक में लोग न तो फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और न ही मास्क लगा रहे हैं।

लोगों की इस लापरवाही के कारण ब्लॉक में कोरोना तेजी से फैल रहा है। शहर में कोरोना के मरीज प्रतिदिन निकल रहे हैं। कस्बे में तीन दिन पहले 25 मरीज पॉजिटिव निकले थे। वहीं गुरुवार को फिर कोरोना के 7 मरीज पॉजिटिव निकले हैं। पॉजिटिव निकले मरीजों में डॉक्टर, राजस्व निरीक्षक, पटवारी, अभिभाषक व कर्मचारी के साथ ही व्यापारी पॉजिटिव निकले हैं। नगर पालिका के कर्मचारी रोजाना शहर में बिना मास्क लगाकर घूमने वाले लोगों के 100 रुपये के चालान काट रहे हैं। इससे लोगों में थोड़ी सी जागरुकता तो आई है। 3-4 दिन की चालानी कार्रवाई के बाद भी शहर में मात्र 20 फीसद लोग ही मास्क लगा रहे हैं। वहीं 80 फीयद लोग अभी भी मास्क से जान बूझकर कर दूरी बनाए हुए हैं। यह 80 फीसद लोग पूरे शहर व क्षेत्र के लिए घातक हैं।

कोरोना से कई लोगों की हो चुकी है मौत

पिछले वर्ष कोरोना के कारण काफी तबाही हुई थी। कोरोना के चलते शहर में कई लोग असमय ही दुनिया को अलविदा कह गए। अभी कुछ दिनों में ही तीन युवाओं की मौत भी हो चुकी है। इनकी कमी नगर को हमेशा अखरेगी। वहीं जिन लोगों के परिजन पॉजिटिव हुए उन लोगों ने भोपाल के अस्पताल में काफी परेशानी झेलना पड़ी। कई लोगों की मुश्किल से जान बच पाई। इसके बाद भी लोग कोरोना के प्रति लापरवाही बरत रहे हैं।

कम संख्या में हो रही सैंपलिंग

नगर की आबादी करीब 60 हजार से अधिक होने के बाद भी लोग सैंपलिंग कराने में आनाकानी करते हैं। लोग डर के मारे कोरोना की जांच नहीं करा रहे हैं। अस्पताल में रोजाना 30-40 लोग सैंपल करा रहे हैं। शहर में रोजाना इंदौर, भोपाल, शाजापुर आदि स्थानों से आना-जाना लगा रहता है। इसके बाद भी बाहर से आने वालों को अस्पताल में सैंपलिंग कराना चाहिए। लेकिन इस ओर प्रशासन द्वारा लापरवाही बरती जा रही है।

नहीं हो रहा सैनिटाइजर का उपयोग

कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद भी लोग सैनिटाइजर का उपयोग नहीं कर रहे हैं। गिनी चुनी दुकानों और ऑफिसों में ही सैनिटाइजर रखा है। लेकिन वह शोपीस बन कर रह गया है। इक्का-दुक्का लोग ही उसका उपयोग कर रहे हैं। शहर की गल्ला मंडी, हाट बाजार सहित अन्य जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का उपयोग नहीं हो रहा है।

कार्रवाई के बाद भी दुकानदार नहीं लगा रहे मास्क

बुधवार व गुरुवार को प्रशासन ने अभियान चलाकर कार्रवाई की थी। इसके बाद भी दुकानदार, हाथ ठेला, कई विभागों के कर्मचारीगण, कियोस्क सेंटरों पर न के बराबर लोग मास्क लगा रहे हैं। किसी कियोस्क सेंटर पर आने वाले ग्राहक तो मास्क लगा रहे हैं, लेकिन कियोस्क सेंटर पर तैनात कर्मचारी मास्क नहीं लगा रहे हैं। लोगों से मास्क न लगाने के बारे में पूछा जाता है तो वह कई बहाने बना देते हैं। इसके लिए पुलिस व प्रशासन को सख्ती करना पड़ेगी। एसडीओपी मोहन सारवान, तहसीलदार रघुवीर सिंह मरावी, नायब तहसीलदार अंकिता वाजपेयी, सीएमओ नंदकिशोर परसानिया आज भी सड़कों पर निकले और अपील की।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags