सीहोर। जिले के शिक्षक अब कोरोना पॉजिटिव को उन्हीं के गांव या शहर में उनके घरों के आसपास के सरकारी स्कूलों में योगा करवाएंगे। इसके लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने पत्र भी जारी कर दिया है। सीहोर अनुभाग के 330 शिक्षकों को अपने स्कूल में योग कराना है। इन 330 शिक्षकों की सूची में मृत शिक्षकों और स्थानांतरित हो चुके शिक्षकों के नाम भी हैं। इस सूची में प्रशासन की लापरवाही साफ दिख रही है। वहीं इस सूची में ऐसे शिक्षकों के नाम भी हैं जो खुद पॉजिटिव हैं। इसके अलावा इस आदेश से शिक्षक नाराज और डरे हुए भी हैं। शिक्षकों का कहना है कि दूसरे जिलों में शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित किया गया है। जबकि यहां शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित नहीं किया जा रहा। शिक्षकों का कहना है कि वे हर काम के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं, लेकिन उन्हें कोरोना योद्धा घोषित किया जाए।

शिक्षकों को किल कोरोना अभियान के तहत घर-घर जा कर लोगों के स्वास्थ संबंधी जानकारी एकत्रित करना है। साथ ही उन्हें अब अपने स्कूल के आसपास के कोरोना पॉजिटिव मरीजों को योगा कराना है। शिक्षकों का कहना है कि वे पॉजिटिव के बीच उन्हें योगा कराएंगे जिससे उनके पॉजिटिव होने का डर बना रहेगा। साथ ही यदि वे पॉजिटिव हो जाते हैं और कोई अनहोनी हो जाती है तो उनका परिवार सड़क पर आ जाएगा। दूसरे विभागों के लोगों को कोरोना योद्धा माना जा रहा है जिससे यदि कोरोना के कारण उनकी मौत होती है तो परिवार को आर्थिक सहायता मिलेगी। जबकि शिक्षकों के परिवार को कोई सहायता नहीं दी जाएगी।

मृतकों की लगाई ड्यूटी

सीहोर ब्लाक के जिन शिक्षकों की ड्यूटी योगा के लिए लगाई गई है। उसमें सीता शंक्वार का नाम है जो माध्यमिक शाला बिजलोन का नाम भी है। इनकी मृत्यु हो चुकी है। इसी तरह उच्चतर माध्यमिक विद्यालय दोराहा की प्राचार्य शर्मिला सेन का नाम भी है इनकी भी मौत हो चुकी है। इनका नाम भी सूची में शामिल है।

स्थानांतरित और सेवानिवृत्त के भी नाम

सूची में एसके केशरी का नाम भी है जो प्राथमिक शाला बरखेड़ी में पदस्थ थे। वे रिटायर हो चुके हैं। इसके बाद भी सूची में उनका नाम शामिल है। इसी तरह शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य सीवी तिवारी का नाम भी है। इनका स्थानांतर रायसेन हो चुका है।

शिक्षकों ने लगाई गुहार

प्रांतीय शिक्षक संघ और आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के पदाधिकारी व सदस्य सीएम और कलेक्टर से कई बार शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित करने को लेकर गुहार लगा चुके हैं। इसके बाद भी उन्हें कोरोना योद्धा घोषित नहीं किया जा रहा। बुधवार को भी कमिश्न कविंद्र कियावत से भी बुदनी ब्लाक के प्रांतीय शिक्षक संघ के शिक्षकों ने कोरोना योद्धा घोषित करने के लिए गुहार लगाई।

...........

आकाश माथुर

000000000000

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags