सीहोर। प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में 23 जुलाई से गर्भवती महिलाओं का कोविड टीकाकरण किया जाएगा। यह टीकाकरण जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में किया जाएगा। गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के लिए जिले में सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के प्रति जन जागरूकता के लिए राज्य स्तर पर गूगल मीट के माध्यम से ऑनलाइन मीडिया कार्यशाला आयोजित की गई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के वीसी रूम में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एमके चंदेल तथा प्रिंट एवं इलेक्टॉनिक मीडिया के अनेक प्रतिनिधि उपस्थित थे।

गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के लिए पहले से ऑनलाइन पंजीयन कराने की जरूरत नहीं होगी। टीकाकरण केंद्र पर ही ऑन साई पंजीयन के माध्यम से टीकाकरण किया जाएगा। टीकाकरण के बाद हर गर्भवती महिलाओं का बीस दिन तक प्रतिदिन फालोअप किया जाएगा। मीडिया कार्यशाला के दौरान सीएमएचओ डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि जिले की 18 हजार महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा। गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई हैं।

किसी भी समय लगाया जा सकता है कोविड का टीका

कोविड 19 टीकाकरण गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किसी भी समय लगाया जा सकता है। जिन महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान कोविड 19 का संक्रमण हो चुका है, उनका प्रसव के तुरंत बाद कोविड 19 टीकाकरण किया जाए।

मंगलवार एवं शुक्रवार को होगा टीकाकरण

गर्भवती महिलाओं का कोविड 19 टीकाकरण नियमित टीकाकरण दिवसों मंगलवार एवं शुक्रवार को शासकीय स्वास्थ्य संस्था पर संचालित एएनसी क्लीनिक में किया जाएगा। इसके साथ ही शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में अन्य दिवस में आने वाली गर्भवती महिलाओं का भी कोविड 19 टीकाकरण किया जा सकता है। इसके लिए एएनसी क्लीनिक के समीप तीन अन्य व्यवस्थायें भारत शासन के निर्देशानुसार सुनिश्चित की गई हैं। प्रथम चरण में कोविड 19 टीकाकरण गर्भवती महिलाओं को समस्त शासकीय मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर किया जाएगा।

टीकाकरण पश्चात गर्भवती महिलाओं की निगरानी

टीकाकरण पश्चात गर्भवती महिलाओं को 30 मिनट तक निगरानी के लिए अलग कक्ष में रखा जाएगा। कोविड.19 टीकाकरण के बाद 20 दिनों तक गर्भवती महिला की निगरानी की जाएगी। सुमन हेल्प डेस्क के टेलीकॉलर द्वारा भी 20 दिवस तक इन महिलाओं से संपर्क कर स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली जाएगी। यदि कोई लक्षण दिखाई दे तो डीएचओ डीआईओ को सूचित किया जाएगा। साथ ही कोविड टीकाकरण के संबंध में काउंसलिंग की जाएगी।

टीकाकरण को लेकर उत्साह, लगी लंबी लंबी कतारे

तीन दिन के बाद जिले में 73 केंद्रों पर एक दिन में 22 हजार 61 लोगों का पहला व दूसरा डोज का टीकाकरण दिया गया। लोगों को अलग-अलग समय टीका लगाने के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन सुबह से एक साथ ही भीड़ टीका लगवाने पहुंच गई। लोगों के उत्साह के चलते सुबह से ही लंबी-लंबी कतारें लग

गई। टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य अमले व लोगों को जमकर मशक्कत करनी पड़ी। वहीं कई केंद्रों पर डोज कम पड़ने से लोगों को वापस लौटना पड़ा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags