जावर। नगर में नवरात्र के पर्व के अंतिम दौर में महाआरती के आयोजन हो रहे है। प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी मां महिषासुर मर्दिनी माता मंदिर में बुधवार को महाअष्टमी के अवसर पर महाआरती का आयोजन रखा गया। शासन की गाईडलाईन को लेकर समिति द्वारा लोगों की सुरक्षा के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी। जिसमें महिला-पुरूष, श्रद्धालु-भक्तजन हजारों की संख्या में शामिल हुए। वहीं मां महिषासुर मर्दिनी शक्ति संगठन द्वारा मंदिर परिषर को विशेष रूप से सजाया गया।

महाआरती शाम 7 बजे प्रारंभ हुई जो लगभग एक घंटे तक चली इस दौरान तासे, ढोल-ढमाके, नगाढे, घंटी की ध्वनि से नगर गुंजामय हो गया। माता का विशेष श्रृंगार कर पूजा अर्चना की गई। पूरा मंदिर परिसर से लेकर गांधी चौक तक विशेष रूप से साज-सज्जा की गई। इसके बाद महाप्रसादी का महाभोग लगाकर महाप्रसाद वितरण किया गया। वहीं महाआरती के दौरान बाजार में सन्नााटा देखा गया। महाआरती में नगर सहित जिले के हजारों श्रद्धालु उपस्थित थे। इस वर्ष पांच क्विंटल प्रसाद बनाया गया। महाप्रसादी का वितरण रात्रि 12 बजे तक चला। महाअष्टमी के अवसर पर आयोजित महाआरती पर सम्पूर्ण मंदिर परिसर को कलाकारों ने आकर्षक रूप से सजाया। मातारानी का मंदिर मानो एक बंगले की तरह दिखाई दे रहा था जो आर्कषक का केन्द्र बना। कोरोना महामारी को लेकर मंदिर समिति द्वारा महाआरती के लिए खास व्यवस्था की गई थी। इस दौरान मंदिर में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को समिति द्वारा दो हजार से अधिक मास्क का वितरण किया गया। साथ ही मंदिर के मुख्य द्वार पर सैनिटाईजर से हाथ धुलाने की व्यवस्था भी समिति द्वारा की गई। उक्त व्यवस्थाओं को देखकर प्रषासन ने समिति के कार्य को सराहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local