सीहोर। दो दिन पहले मिडघाट के पास झाड़ियों में एक युवती का शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। जांच में जुटी पुलिस ने सीसीटीएनएस साफ्टवेयर से हत्यारे का पता लगा लिया है। मृतका के पति ने ही उसे मौत के घाट उतारा था, जो अभी पुलिस की हिरासत में है। पूछताछ में सामने आया है कि प्रेम विवाह के कुछ समय बाद ही पति-पत्नी में आए दिन विवाद हुआ करता था और एक साल बाद दोनो अलग-अलग रहने लगे थे, लेकिन मृतका अपने पति से भरण-पोषण की मांग कर रही थी, जिसको लेकर पति ने भोपाल से लाकर बुधनी के मिडघाट क्षेत्र में हत्या कर शव झाड़ियों में फेंक दिया। वहीं सबूत मिटाने के लिए मृतका की स्कूटर को भोपाल में एक मॉल के सामने जला दिया था, लेकिन मोबाइल लोकेशन से आरोपित को पुलिस ने ट्रेस कर हत्या का खुलासा कर दिया।

जानकारी के अनुसार रविवार को एक नवयुवती का शव बुधनी क्षेत्र के नेशनल हाइवे 69 पर मिडघाट के जंगल में झरने के किनारे मिली थी, जिसकी शिनाख्त पुलिस द्वारा सीसीटीएनएस साफ्टवेयर के जरिए की गई। उक्त युवती की गुमशुदगी 16 अक्टूबर को थाना कोलार रोड भोपाल में नैना उर्फ शिखा पासवान कोलार रोड भोपाल निवासी के रूप में दर्ज कराइ गई थी। मृतका के शरीर पर काफी चोंट होने से मौके पर एफएफएल टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण किया था। मामला हत्या का होने से थाना बुधनी में अज्ञात आरोपित के विरुद्ध धारा 302, 201 भादंवि का कायम कर विवेचना में लिया गया था, जांच में मोबाइल लोकेशन और युवती के मोबाइल की सीडीआर व उसके परिजनों के कथन के आधार पर मृतका युवती के पति अजय कैथवास उपाध्यक्ष भाजयुमो उपाध्यक्ष शाहजहानाबाद मंडल भोपाल को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, जिसने जुर्म स्वीकार किया। पति-पत्नी में विवाद की स्थिति होने के कारण पति द्वारा ही घटना को अंजाम दिया गया। आरोपित ने पूछताछ में बताया कि मृतका युवती से करीब एक साल पहले मार्च 2020 में उसने प्रेम विवाह किया था, लेकिन प्रेम विवाह के एक माह में ही दोनों के बीच लडाई-झगडे होने लगे, जिससे युवती पति का घर छोड़कर अपने पिता के पास रहने लगी, जहां वह एक ब्यूटी पालर पर जाब करती थी, लेकिन दूर रहने के बाद भी दोनो के बीच विवाद होता रहता था। युवति द्वारा आरोपित के विरुध्द भोपाल सिविल कोर्ट में भी भरण-पोषण का केस लगा रखा था। इसी कारण आरोपित ने युवती की हत्या की योजना बनाई गई और युवती को विश्वास में लेकर दशहरे के दिन घुमाने जाने के बहाने से कोलार भोपाल से टीला जमालपुरा क्षेत्र में बुलाया और वहां से युवती की स्कूटर से रेहटी क्षेत्र में सलकनपुर मंदिर लेकर गया। जहां दोनों रात करीब डेढ़ बजे मंदिर पहुंचे, जहां से वापसी में रात करीब साढ़े तीन बजे बुधनी के मिडघाट पर नेशनल होइवे के किनारे जंगल में झरने के पास बाथरूम जाने का बहाना बनाकर स्कूटर को रोका और युवती की हत्या कर दी। इसके बाद शव को छिपाने के उद्देश्य से झाड़ियों में झरने के किनारे से फेंक दिया था, उसके बाद युवती की स्कूटर को भोपाल ले जाकर पीपुल्स मॉल के पास सुनसान देखकर जला दिया था।

0000000000000000

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local