भैरुंदा, नसरुल्लागंज। नसरुल्लागंज पुलिस ने क्षेत्र में फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने वाले व गरीब लोगों को निशाना बनाकर फर्जी तरीके से बेचने वाले गिरोह के मुख्य सरगना बिहार निवासी आरोपित नवीन को फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने के उपकरण, दर्जनों फर्जी जन्म प्रमाण पत्र सहित बिहार से गिरफ्तार करने में बड़ी सफतला मिली। फिलहाल आरोपित से पूछताछ जारी है। पुलिस को फिलहाल उसने बताया कि वो अपने शौक पूरे करने और जल्द अमीर बनने के लिए यह काम करता था। साथ ही उसने बताया कि उसने इंटरनेट मीडिया पर साफ्टवेयर इंजीनियरिंग सीखी और अब तक 53 हजार फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बना दिए।

इस मामले में 29 जुलाई को फरियादी भुजराम पर्ते मूल निवासी इटावा खुर्द पोस्ट पिपलानी की रिपोर्ट पर फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने का मामला सामने आया था। पुलिस ने आरोपितों के विरुद्ध मामला दर्ज कर अनुसंधान में लिया था। इसके बाद एसपी मयंक अवस्थी ने थाना प्रभारी कंचन सिंह ठाकुर के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की गई थी। पुलिस टीम ने अनुसंधान में आरोपित दीपक मीणा से पूछताछ व तकनिकी सहायता से यह बात सामने आई कि इस फर्जीवाडे में बालाघाट निवासी आरोपित शंशाक गिरी संलिप्त है। पुलिस ने फर्जीवाडे के अन्य आरोपित शंशाक गिरी को बालाघाट से गिरफ्तार किया। आरोपित शंशाक गिरी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसे फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने की लिन्क वाट्सएप्प के माध्यम से उत्तर प्रदेश के रहने वाले फरदीन पिता इमरान व फरदीन पिता शहीद से मिली थी। नसरुल्लागंज पुलिस टीम आरोपितों की तलाश व फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने वाले गिरोह के आरोपितों फरदीन पिता इमरान व फरदीन पिता शहीद निवासी मेरठ को उत्तरप्रदेश से गिरफ्तार किया। दोनों आरोपितों ने पुलिस को बताया कि उन्हे यह लिंक उनके वाट्सएप्प मेसेज में आना व उक्त मेसेज में आए मोबाईल नंबर से जरिए आनलाईन कालिंग कर उक्त मामले का मास्टरमाईंड नवीन कुमार निवासी बिहार से संपर्क कर लिंक को ओपन कर 100 रुपये में रिचार्ज कर जन्मप्रमाण पत्र बनाना बताया। इस प्रकार दोनों आरोपित फरदीन पिता इमरान व फरदीन पिता शहीद निवासी उत्तरप्रदेश 100-200 रुपयों में फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाना व उसका कुछ प्रतिशत आरोपित नवीन कुमार को जरिए बार कोड के यूपीआई के माध्यम से उसके अकाउण्ट में पैसे डालना बताया। पुलिस ने इस फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने वाले गिरोह के मुख्य सरगना मास्टरमाईड आरोपित नवीन कुमार सिंह पिता संजीव कुमार सिहं उम्र 19 साल निवासी भिट्टी बाजार जिला सारण को बिहार से तकनिकी सहायता व अथक प्रयासों से गिरफ्तार किया। जन्म प्रमाण पत्र बनाने वाला गिरोह का मुख्य सरगना मासूम सा दिखने वाला 19 साल का लड़का जिसने कम समय मे अमीर बनने व अपने महंगे शौक पूरे करने के लालच में इस गोरखधंधे को शूरू किया था। गिरोह के मुख्य आरोपित से पूछताछ की जा रही है जिससे अन्य फर्जीवाडे का खुलासा हो सके। आरोपितों से एक एलईडी, पांच मोबाईल, पांच लेपटाप, तीन प्रिन्टर व 48 फर्जी जन्म प्रमाण पत्र जब्त किए गए हैं।

कैसे बनाए 53 हजार फर्जी जन्म प्रमाण पत्र

आरोतिप नवीन कुमार सिंह पिता सजीव कुमार उम्र 19 साल निवासी भिट्टी बाजार जिला सारण बिहार प्रदेश ने पूछताछ में बताया कि उसके पिता आनलाईन की दुकान पर काम करते थे। उसे देखकर उसे बच्चपन से ही से साईबर संबंधित चीजों में रुचि थी व घर के हालात सही ना होने व कम समय में ज्यादा पैसा कमाने की लालच में उसने इंटरनेट मीडिया के जरिए साफ्टवेयर इंजिनियरिंग का अभ्यास किया हैं। आज से करीब डह माह पहले मुझे जानकारी मिली थी कि कुछ लोग आन लाईन का काम करने वाले जन्म प्रमाण पत्र बनाते हैं। तब मैने अपने मोबाइल पर गूगल से जन्म प्रमाण पत्र बनाने के सम्बंध में जानकारी प्राप्त किया। काफी प्रयास कर गूगल से सर्च करने पर जन्म प्रमाण पत्र बनाने कि विधि प्राप्त किया। मैंने अपना स्वंय का वेबसाईट से तैयार किया। बाद शासकीय अस्पताल की वेबसाईट से किसी भी राज्य जिला के शासकीय अस्पताल से जारी जन्म प्रमाण पत्र नेट द्वारा प्राप्त कर लेता था। जिस प्रमाण पत्र पर अस्पताल की सील व हस्ताक्षर रहते थे। उस जन्म प्रमाण पत्र को मैं लेपटाप पर डाउनलोड कर लेता था। उस प्रमाण पत्र पर लगी सील व हस्ताक्षर अस्पताल का नाम पता कट पेस्ट कर अपने स्वंय द्वारा बनाए गए वेबसाईड पर लोड कर लेता था। बाद जन्म प्रमाण पत्र बनवाने वाले का नाम जन्मतिथि तथा उसके मातापिता का आधार नं. प्राप्त कर मैं बनाए गए लिंक पर जन्म प्रमाण पत्र में जन्म प्रमाण पत्र चाहने वाले का डाटा एडिट कर अस्पताल की सील व हस्ताक्षर कलर कोडेड पेस्ट कर जन्म प्रमाण पत्र पेस्ट कर देता था। इस प्रकार मेरे द्वारा फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनाने कि लिंग द्वारा लगभग 53 हजार फर्जी जन्म प्रमाण पत्र जारी किए गए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close