शुजालपुर। मंडी स्थित मुक्तिधाम को हराभरा बनाने और पर्यावरण प्रदुषण को रोकने के लिए पौधारोपण समिति का गठन कि या गया है। मुक्तिधाम समिति अध्यक्ष मुके श अग्रवाल ने बताया कि मंडी स्थित श्माशान घाट पर पौधा लगाने के लिए लोगों को अधिक अधिक प्रेरित करने के उद््‌देश्य से नगर के कपड़ा व्यवसायी समाज सेवी सिमित चौधरी को पौधारोपण समिति का प्रमुख नियुक्त कि या है। समिति ने नगरवासियों से अपिल की है कि आप अपने परिजन के जन्मदिन, पुण्यतिथि सहित ऐसे अवसर पर पौधारोपण कर मुक्तिधाम को सुंदर और हराभरा बनाने में सहयोग करें। नवनियुक्त पौधारोपण प्रमुख चौधरी ने कहा कि पौधा लगाए अवश्य साथ ही पौधे की सेवा करने और पौधे को वृृक्ष बनाने का संकल्प अवश्य ले।

000000000

उमस व गर्मी के बाद हुई रात में हुई राहत भरी बारिश

शुजालपुर। पारा के लुढकने के बावजूद शुक्रवार को उमस के चलते लोग गर्मी से परेशान रहे, लेकि न रात 8 बजे के लगभग हुई बारिश ने मौसम में ठंडक घोल दी। शुक्रवार को दिनभर लोग उमस भरी गर्मी से परेशान थे। कारण दो दिन पूर्व हुई बारिश के बाद बारिश नहीं होना था। बारिश नहीं होने के कारण लोग उमस से परेशान थे जिसके चलते भरी दोपहरी में बाजार में सन्नाटा पसरा हुआ था। गर्मी का आलम बारिश होने के पहले तक ऐसा ही था। शाम पांच बजे के लगभग बदली छाई भी थी, लेकि न बारिश नहीं हुई। रात आठ बजे के लगभग बरसात होने लगी। जिससे मौसम में ठंडक आने से लोगों ने राहत महसूस की।

00000

कृषक समृद्धि योजना में बेची लहसुन का नहीं हुआ भुगतान

- किसान ने सीएम हेल्प लाइन पर की शिकायत

शुजालपुर। कि सान समृृद्धि योजना के तहत एक वर्ष पूर्व एक कि सान ने स्थानीय प्याज मंडी में लहसुन लाकर बेची थी। कम्प्यूटर ऑपरेटर की भूल के कारण कि सान की करीब 27 हजार रुपए की राशि आज तक उसके बैेंक खाते मे जमा नहीं हुई है। पंजीयन प्रविष्ठी करने में हुई भूल के चलते प्रोत्साहन राशि का लाभ दूसरे कि सान को हुआ और राशि उसके खाते में जमा होने का मामला सामने आया है। पीड़ित कि सान ने अब सीएम हेल्पलाइन पर न्याय की गुहार लगाई है।

ग्राम बंजारी निवासी दिलीप पिता आनंदसिंह मीणा ने कि सान समृद्धि योजना के तहत स्थानीय प्याज मंडी में एक साल से अधिक समय हुए 18 मई 2018 को लहसुन 561 रुपए क्विंटल के भाव से व्यापारी को बेची थी। कि सान ने योजना में अपनी उपज को बेचने के लिए पंजीयन करा रखा था। कृषक ने उसी पंजीयन क्रमांक 818190260088 पर बेचने के उपरांत शासन की योजना के तहत बेची गई लहसुन 33 क्विंटल 75 कि लो के आठ सौ रुपए प्रति क्विंटल के भाव से कि सान को प्रोत्साहन राशि मिलना थी। कम्पयूटर ऑपरेटर से भूलवश दिलीपसिंह मीणा के पंजीयन क्रमांक के स्थान पर बंजारी निवासी रामप्रसाद पिता इंदरसिंह मीणा का पंजीयन क्रमांक 818190260085 डल गया। गलत पंजीयन होने का लाभ रामप्रसाद को मिला और उसके खाते में 15 हजार 928 रुपए जमा हुए। रामप्रसाद ने पूर्व में अपने पंजीयन पर स्वयं की लहसुन बेची लेने के कारण योजना मे मिलने वाली प्रोत्साहन राशि की लिमिट खत्म होने से शेष रकम योजनानुसार लेप्स हो गई। कि सान अपनी उपज की प्रोत्साहन राशि लेने के लिए दर-दर भटक रहा है। उसकी सुनवाई कही नहीं होने से हताश कि सान ने बुधवार 12 जून को सीएम हेल्पलाइन में शिकायत कर उपज की राशि दिलवाने की मांग की है।

जांच की जा रही है

जांच की जा रही है। कि सान की मदद के लिए रामप्रसाद का खाता पंजाब नेशनल बैंक शाखा में फ्रीज करवा दिया है।

- मर्दनसिंह कु शवाह, मंडी सचिव शुजालपुर।