सीहोर। जिले में गुरुवार को रक्षाबंधन का त्योहार उत्साह के साथ मनाया गया। बहनों ने भाइयों का मंगल तिलक कर रक्षा सूत्र बांधें। बहनों ने भाई की कलाई पे प्यार बांधा है.. ये राखी बंधन है अपना.. भैय्या मेरे राखी के बंधन को निभाना जैसे गीतों की पक्तियां फिजाओं में छाई रही। जिलेभर में भाई-बहन के अटूट प्रेम पर्व रक्षाबंधन को मनाया गया। पारंपरिक रस्मों को निभाते हुए बहिनों ने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा और भाइयों से रक्षा का वचन लिया। हालांकि जिले भर में अधिकतर जगह रात साढ़े आठ बजे के बाद शुभ मुहूर्त में रखी बांधी गई।

रक्षा बंधन पर्व को लेकर बाजारों में खासी रौनक रही। श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाए जाने वाले इस पर्व को लेकर जिलेभर में उल्लास रहा। बहनों ने शुभ मुहूर्त में पूजा का थाल सजाया, जिसमें कुमकुम, अक्षत, रक्षा सूत्र, मिठाई, सूखा नारियल आदि रखे। इसके बाद भाई के माथे पर प्रेम का टीका लगाया और आरती उतारी। बहन ने भाई की कलाई पर राखी बांधकर मुंह मीठा कराया। भाइयों ने भी बदले में रक्षा का वचन दिया तथा उपहार, श्रृंगार सामग्री, कपड़े, आभूषण आदि भेंट किए।

हल्की फुहारों की बीच बाजार में रही भीड़

रक्षाबंधनपर्व के उपलक्ष्‌य में शहर में सजी राखियों की दुकानों पर खरीदारों की भीड़ लगी रही। बहिनों ने अपने भाइयों के लिए कई वैरायटियों की राखियां खरीदी। दूसरे राज्य एवं जिलों में रह रही बहनें भी अपने भाइयों को राखी बांधने के लिए पहुंची। रक्षाबंधन पर्व पर नन्हें-मुन्नाों में भी विशेष उत्साह देखा गया।

मिष्ठानभंडारों पर लगी भीड़

रक्षाबंधनपर्व को लेकर शहर के मिष्ठान भंडारों पर दिनभर लोगों की भीड़ रही। आम दिनों में सूनी रहने वाली मिठाई की दुकानों पर भी लोगों का जमघट रहा और जमकर मिठाईयों की बिक्री हुई। बाजार में 350 से 1000 रुपए प्रति किलो के भाव से भी मिठाइयों की अच्छी बिक्री हुई। रक्षाबंधन पर्व को लेकर कई मिष्ठान भंडार वालों ने मिठाइयों के काउंटर सजा दिए थे।

वाहनों में यात्रियों की भीड़

रक्षाबंधनपर बस स्टैंड पर महिलाओं की भीड़ नगर आई इसका प्रमुख कारण हल्की वर्षा भी रही, जिससे दो पहिया वाहन का उपयोग कम ही रहा। बसों में महिलाओं-युवतियों की भीड़ के कारण जगह मुश्किल से नसीब हुई। पर्व को लेकर बाजार में खरीददारों की खासी भीड़ रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close