सीहोर। पर्यावरण के सुधार और शहर की आबोहवा में घुल रहे जहर को नियंत्रण में रखने के लिए हजारों पौधे लगाए। इस पुनित कार्या में शहर के लोगों ने भी बढ़चढ़ कर भाग लिया। शहर के लोगों की भागीदारी के कारण ही एक भी पौधा मुरझाया नहीं। शहर में करीब पांच हजार पौधे विभिन्ना संस्थाओं ने लगाए हैं। जिन संस्थाओं ने सराहनीय कार्य किया है। उनमें अध्यापक संघ और संडे का सुकून मुख्य रूप से शामिल हैं। जिससे शहर की सूरत बदल गई। वहीं शहर के युवा भी लोगों को जागरूक करने का काम कर रहे हैं।

फिटनेस और पर्यावरण के लिए साइकिलिंग को बढ़ावा दे रहे युवा

फिटनेस और पर्यावरण के लिए साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए बीएसआइ पर फिटनेस अकादमी लोगों को जागरूक कर रहे हैं। इसके तहत इन युवाओं के दल ने नव वर्ष के मौके पर सीहोर से ऐतिहासिक सांची तक करीब 175 किलोमीटर का सफर साइकिल से तक किया। इस संबंध में शहर के बीएसआइ मैदान पर 360 फ्लाइ एटीसी इंडिया फिटनेस अकादमी के कोच सचिन वर्मा ने बताया कि प्रतिदिन सुबह और शाम मैदान पर युवाओं को फिट रहने के टिप्स दिया जा रहा है। इस आयोजन के तहत नव वर्ष के मौके पर दस युवाओं की टीम ने उनके नेतृत्व में करीब 175 किलोमीटर का सफर मात्र नौ घंटे में तय किया। कोच श्री वर्मा ने कहा कि साइकिल को अपनी जीवन में अपनाने से कई फायदे हैं। अपने स्वास्थ्य के साथ ही हम स्वच्छ पर्यावरण बनाने में भी योगदान दे सकेंगे। साइकिल यात्रा के दौरान वह लोगों को साइकिल के प्रयोग के लिए प्रेरित करते हैं। इसके अलावा अकादमी के द्वारा अर्मी में शामिल होने वाले बच्चों को भी अभ्यास कराया जा रहा है।

..........

शहर की दो किलो मीटर की सड़क का डेढ़ लाख के पाम ट्री लगाकर किया सुंदरीकरण

शहर में इन दिनों सकारात्मकता की अलख जागी हुई है। तभी तो शहर के लोगों ने किसी से शिकायत करने के बजाए खुद कुछ करने का निर्णय लिया। नागरिकों का मानना है कि कुछ जिम्मेदारियां हमारी भी तो हैं। साथ ही उनका कहना है कि शहर में प्रवेश करने के लिए मुख्य मार्ग सैकड़ाखेड़ी रोड है। जिससे हमारे शहर के मेहमान प्रवेश करते हैं। इस सड़क के सुंदर होने से शहर की छबी भी उनकी नजर में साफ-सुथरी बनेगी। सरकार ने अच्छी सड़क बनवाई बीच में डिवाइडर भी बनवाया था। जिसपर आकर्षक लाइट भी जगमगाती है, लेकिन बिना हरियाली के यह सड़क सूनी लगती थी। जिसे सुंदर बनाने के लिए लोगों मिलकर दो किमी के बीच डिवाईडर पर 150 पाम ट्री लगाए। हर एक पौधे की कीमत 1100 रुपये थी। जो करीब डेढ लाख की लागत से लगाए गए। इस मुहीम के लिए लोगों से अपील समाजिक संस्था संडे के सुकून ने की थी। लक्ष्य पूरा होने पर टीम ने आयोजन किया। जिसमें पूरे शहर को आमंत्रित किया गया था। लोगों के मनोरंजन के लिए यहां कठपुतली शो का आयोजन और अन्य गतिविधियों का अयोजन भी किया गया था।

..........

जन्मदिन पर लगाते हैं पौधे

शहर के कुछ लोग जागरुकता के लिए कई तरह के प्रयास कर रहे हैं। कुछ लोगों ने मुहील चला रखी हैं कि जिसके तहत वे अपने मित्रों और परिवारजनों के जन्मदिन पर पौधा रोपण करते हैं। शहर के उत्कृष्ठ विद्यालय के शिक्षक संतोष सोनी, शिक्षक संजय सक्सेना और संडे के सुकून टीम ने इस मुहीम के तहत सैंकड़ों पौधे लगवाएं है। शिक्षक संतोष सोनी बताते हैं कि उन्होंने अब तक पांच हजार पौधे लगाए हैं। वहीं इस साल उन्होंने करीब 300 पौधें लगाए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local