आष्टा (नवदुनिया न्यूज)। तीन दिन का लक्ष्‌य 15 हजार वैक्सीनेशन लगाने का था, जिसके विरुद्ध 13428 विद्यार्थियों को वैक्सीन लगाया गया। कुल 21700 का लक्ष्‌य रखा गया है। बुधवार को 2904 विधार्थियों को वैक्सीन लगाए गए। तीसरे दिन भी बच्चों को लगा टीका, कोई आइडी प्रूफ नहीं तो मौके पर ही बनाया पहचान पत्र। बच्चे पर मोबाइल नहीं तो शिक्षक के नंबर का होगा उपयोग, तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए अस्पताल में आईसीयू वार्ड में 10 बेड लगाएं गए हैं।

कोविड 19 टीकाकरण स्कूल-कॉलेजों में 15 से 18 साल के बच्चों को लगाई वैक्सीन। कोरोना से जंग में जिस घड़ी का लंबे समय से इंतजार किया जा रहा था, आखिर वह घड़ी आ ही गई है। तीन जनवरी से 15 से 18 साल आयु के स्कूल-कॉलेज छात्र-छात्राओं को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण शुरू हुआ था। दूसरे दिन 9388 के लक्ष्‌य के विरुद्ध 4133 विद्यार्थियों को वैक्सीन लगाया गया था, वहीं तीसरे दिन 2904 विद्यार्थियों को वैक्सीन लगाए गए। प्रशासन के साथ ही स्वास्थ्य और शिक्षा विभाग द्वारा व्यापक रूप से तैयारी की गई है। यहां बता दें आष्टा में 15 से 18 साल आयु के 21700 हजार से अधिक किशोरवय के बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्‌य है। तीन दिन में सभी सरकारी हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी स्कूल में टीकाकरण किया जाएगा। सभी किशोर-किशोरियों को कोवैक्सीन लगाई जा रही है। अस्पताल में तीसरी लहर को देखते हुए आईसीयू वार्ड में 10 बेड की तैयारी की गई है। जहां अक्सीजन भी 24 घंटे उपलब्ध रहेगी उसका निरीक्षण बीएमओ डॉ प्रवीर गुप्ता ने किया।

आइसीयू में दस बेड की व्यवस्था

स्कूल और कॉलेज में छात्र-छात्राओं को तीन दिन में टीका लगाने की योजना बनाई गई है। प्रत्येक स्कूल कॉलेज में डॉक्टर, एएनएम और वेक्सीनेटर को तैनात किया गया है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर की तरह ही तीसरी लहर से मुकाबला किए जाने की बात एसडीएम विजय मंडलोई एवं बीएमओ डॉक्टर प्रवीर गुप्ता ने कही, उन्होंने कहा कि अब तो ऑक्सीजन प्लांट, आइसीयू वार्ड में 10 बेड आदि की व्यवस्था है। जब यह नहीं थी तब भी बेहतर मेनेजमेंट किया गया था। अधिकारियों ने कहा कि सभी को गाइड लाइन का पालन करना है। सीएमएचओ ने शारीरिक दूरी, मास्क और सेनेटाइजर उपयोग जरूर करने की बात कही।

आइडी प्रूफ जरूरी, नहीं है तो मौके पर ही बनेगा

टीकाकरण के लिए बच्चों की कोई न कोई आइडी जरूरी होगी। बच्चों से अपेक्षा की गई है कि अगर उनके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड, स्कूल का आईसी है तो वह जरूर लेकर जाएं और इनमें से कुछ भी नहीं है, तो अपना एक फोटो लेकर जाएं, जिससे क्लास टीचर और प्राचार्य द्वारा तत्काल उनका आईसी बनाया जा सके। बच्चों को अपना या अपने माता- पिता, भाई- बहन में किसी का भी एक मोबाइल नंबर भी ले जाना होगा जिससे उनका सर्टीफिकेट जनरेट होकर मिल सके। अगर किसी पर मोबाइल नंबर नहीं होगा तो टीचर अपने मोबाइल नंबर का उपयोग करेंगे।

कोरोना वेक्सीनेशन के लिए लगाय कैंप

फोटो 16 आष्टा। मार्टिनेट कान्वेनट हायर सेकंडरी स्कूल बनाया गया आकर्षक टीकाकरण केंद्र। नवदुनिया

आष्टा। स्थानीय मार्टिनेट कान्वेनट हायर सेकंडरी स्कूल अलीपुर आष्टा मे माननीय प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की मंशानुसार कोरोना से सभी को मुक्त होना है इसलिए 15 से 18 वर्ष के सभी बच्चो को कोरोना टीका लगाना है। इसी परिपेक्ष में शिक्षामंत्री के निर्देशानुसार ये कैंप विद्यालय स्तर मे आयोजित होंगे। इसलिए सीहोर जिले के कलेक्टर व जिला शिक्षा अधिकारी के आदेश पर कैंप का आयोजन किया गया। शाला मे अध्ययनरत 9वीं से 12वीं तक कुल 204 विद्यार्थी पंजीकृत है जिसमे मे से 174 विद्यार्थियों का वेक्सीनेशन हुआ। 6 विद्यार्थी पहले ही वेक्सीनेट हो चुके थे। कुल 24 विद्यार्थी शेष रहे। इस अवसर पर शाला के संचालक नोशे खान ने कहा कि ये बहुत ही महामय बीमारी है। इससे पूरा विश्व परेशान है हम चाहते है कि वेक्सीनेशन के माध्यम से इस बीमारी से जल्दी से मुक्त हो जाए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local