भैरुंदा(नसरुल्लागंज)। क्षेत्र सहित आस-पास में हो रही चोरी की घटनाओं ने पुलिस की नींद हराम कर दी थी, लेकिन पुलिस ने रविवार को 20 लाख रुपये की चोरी करने वाले आधा दर्जन से अधिक युवा चोरों को अपने शिकंजे में लिया है। चोरी की घटना में शामिल आरोपित अपने शौक पूरे करने के लिए घरों में चोरी करते थे। दुकानों और मकानों पर उनकी निगाहें लगी रहती थी। नसरुल्लागंज पुलिस ने करीब 20 लाख रुपयें की चोरी व चोरों की गैंग का खुलासा कर बताया कि बीस लाख रुपये के चोरी के माल के साथ चोरों का गिरोह पकड़ा है। 307 ग्राम सोना व 5.5 किलो चांदी की ज्वेलरी है। इसके अलावा दो बाइक बरामद की है। यह चोर चोरी के जेवर को गलवाकर गोल्ड लोन लेने के फिराक में थे।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अवैध गतिविधियों व बढती चोरियों की रोकथाम व आरोपियों की धरपकङ के लिए पुलिस स्टाफ द्वारा मुखबिर की सूचना पर संदेही व्यक्ति वीरेन्द्र उर्फ वीरु को उसके घर ग्राम बोरखेङा थाना नसरुल्लागंज से पकङ़ा था। इसके बाद उसने पूछताछ में बताया कि गत बुधवार को शास्त्री कालोनी में अपने साथियों अतुल शर्मा, नमन मुकाती, शिवम राजपूत, कौशल राजपूत, दीपक मीणा, प्रदीप पंवार के साथ मिलकर की चोरी करना स्वीकार करना और पूर्व गत वर्ष 16 दिसंबर को स्वप्न सिटी में वीरेंद्र पंवार ने अपने साथी शिवम राजपूत व दीपक मीणा के साथ मिलकर हुई चोरी करना स्वीकार किया। दोनों चोरियों में करीब 20 लाख के जेवरात आरोपितों के कब्जे से जब्त किया गया है।

पुलिस महानिरीक्षक के निर्देशन में टीम ने किया खुलासा

नसरुल्लागंज थाने में लाखों रुपये की चोरी दो घटनाओं ने पुलिस को चिंता में डाल दिया था। पुलिस महानिरीक्षक देहात जोन इरशाद वली के निर्देशन में व एसपी मयंक अवस्थी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव एवं एसडीओपी प्रकाश मिश्रा के मार्गदर्शन में एवं थाना प्रभारी कंचन सिंह ठाकुर के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। इसके बाद सूचना प्राप्त हुई कि शास्त्री कालोनी में फरियादी रामचंद्र सोनी के साथ हुई चोरी की घटना एवं स्वपन सिटी प्रशांत यादव के घर में हुई चोरी की वारदात के आरोपित उक्त चोरी के जेवरात को ठिकाने लगाने के लिए इधर-उधर घूम रहे हैं एवं उक्त घटना वीरेन्द्र उर्फ वीरु पंवार निवासी बोरखेङा कलां व उसके साथीगण के द्वारा घटित करने की सूचना प्राप्त हुई एवं जानकारी लगी की मामले का मुख्य आरोपित बोरखेङा से गोपालपुर तरफ रवाना हुआ है। तत्काल पुलिस टीम को गोपालपुर तरफ रवाना किया की मामले का संदेही बोरखेङा के आगे गोपालपुर रोड पर मिला जो पुलिस को देखकर भागने लगा जिसे स्टाफ की सहायता से घेराबंदी कर पकङा। संदेही वीरेन्द्र उर्फ वीरेन्द्र पिता जगदीश पंवार से पूछताछ में उसने बताया कि वह और दीपक मीणा पिता भंवरसिंह निवासी पाचौर, शिवम पिता जितेन्द्र निवासी ऋषिनगर कालोनी, नमन पिता हुकुमसिहं निवासी नंदगांव, कौशल पिता भगवान सिंह राजपूत निवासी बोरखेङा कला, अतुल पिता महेश शर्मा निवासी ग्राम जोगला के साथ मिलकर चोरी करना बताया गया।

दो चोरी की घटनाओं को दिया था अंजाम

पुलिस ने बताया कि चोरी की घटना में आरोपियों ने स्वप्न सिटी से प्रशांत के घर में घुस कर पेटी में से सोने चांदी के जेवरात कीमती चार लाख रुपये लगभग अपने साथीगण शिवम राजपूत व दीपक मीणा के साथ चोरी करना और सोने चांदी के जेवरात प्रदीप पिता प्रकाश पंवार निवासी खातेगांव के साथ गलवाने के लिए जिला हरदा के प्रकाश सोनी से चोरी की जेवरातों को गलवा कर सिक्का बनवाकर सबूत को मिटाया था। पुलिस आरोपित से इलाके में हुई चोरी की अन्य वारदातों के संबंध में पूछताछ की जा रही है। इसके बाद पूछताछ कर आरोपितों को न्यायालय पेश किया जाएगा।

रैकी कर दिया था चोरी की घटना को अंजाम

चोरी के आरोपीगण विगत 15 दिवस से मामले के फरियादी रामचंद्र सोनी की रैकी कर रहे थे। इटावा खुर्द (गोपालपुर) से फरियादी रामचंद्र का दुकान शास्त्री कालोनी तक आने-जाने का समय व उसके गतिविधियों पर नजर रखे हुए थे व घटना दिनांक को वीरेन्द्र उर्फ वीरु पंवार ने मौका पाते ही रामचंद्र का सोना-चांदी से भरा बैग चोरी किया था। शिवम राजपूत जो की बिना नंबर बाइक घटना स्थल से कुछ दूर अतुल शर्मा चालू हालत में लेकर खङा था व शिवम राजपूत व दीपक मीणा घटना स्थल की बगल की किराना दुकान के दुकानदार को बातों में लगा कर उसका ध्यान भटका रहे थे और कुछ दूर कौशल राजपूत व नमन मुकाती आसपास के लोगो पर नजर बनाए हुए थे। इसी प्रकार स्वपन सिटी में प्रशांत के बंद घर की रैकी कर मौका पाकर आरोपित वीरेन्द्र पंवार ने अपने साथी दीपक मीणा व शिवम राजपूत घर में घुस कर घर में रखी पेटी में से सोने-चांदी के जेवर कीमती करीबन चार लाख रुपये के चोरी किए थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local