फोटो 31 आष्टा। साध्वीश्री अखिलेश्वरीजी

फोटो 32 आष्टा। आयोजन में उपस्थित श्रदालुगण।

आष्टा । गवाखेड़ा राम मंदिर में चल रही संगीतमय पंचदिवसीय श्रीरामकथा अन्तिम दिन हवनपूर्णाहुति के साथ विराम की ओर प्रवाहित हुई ।अंतिमकांड के प्रसंगो को सुनाते हुए साध्वीश्री अखिलेश्वरीजी ने राष्ट्र में शांति, आपसी प्रेम व एकता की स्थापना व कन्या, गौमाता व पर्यावरण संरक्षण का करने का संदेश देते हुए कथा को पूर्ण कि या। साध्वी जी ने कहा कि रामकथा एक धार्मिक पवित्र पूज्यनीय ग्रंथ होने के साथ रामजी के आदर्श व उनकी शासन व्यवस्था हमारे जीवन के लिए उच्च उदाहरण है, जो हमें जीवन के संघर्षों से लड़ने की हिम्मत देकर जीने की प्रेरणा देती है।

दीदी मां ने कहा श्रीराम के जीवन के प्रत्येक प्रसंग ने सहजता, प्रेम, मर्यादापालन शांति, एकता, सद्भाव कि शिक्षा मिलती है। उन्होंने कहा कि अगर भगवान राम के आदर्श यदि हम अपने जीवन में पुरी तरह अपना ले तो अवश्य ही पूरे राष्ट्र में रामराज्य की स्थापना स्वत? हो जाएगी। दीदी मां ने बताया कि वर्तमान में हम ऐसे राष्ट्र में जी रहे है जहां के वल स्वार्थ, द्वेष असंतोष, ईष्र्‌या, चोरी अनैतिकता, हिंसा ही न?र आते है। क्योंकि सनातन राष्ट्र के ही कु छ मंदबुद्धियों ने श्री राम व उनके जीवन को काल्पनिक बता दिया। अर्थात ऐसे व्यक्ति अपने आप में दानव तुल्य होने के साथ कन्या एगौमाता व पर्यावरण के भी शत्रु है। हमें आज इन शत्रुओं से तीनो का संरक्षण एसंवर्धन करना ही होगा। सनातनराष्ट्र, गौ मां व कन्या, स्त्री का सम्मान व रक्षा करके सनातन धर्म को आगे की और बढाते हुए राष्ट्र का विकास व उन्नति करने में पूर्ण सहयोग देते रहे तभी श्री राम को वास्तविक रुप में हम पूज पाएंगे। अंतिम दिन व राम मंदिर के फै सले से भक्तों में बहुत अधिक उत्साह था, जिसे वो प्रसन्नता के रुप जयकारों के साथ प्रकट कर रहे थे। कथा आरती, पूजन व हवन आयोजक लखन सिंह सपत्नीक द्वारा सम्पन्न हुआ।

00000000000000000

एनएसएस शिविर में महिला जागृती अभियान चलाया

फोटो 33 आष्टा। सफाई करते हुए छात्राएं।

आष्टा। मप्र शासन के निर्देशानुसार नगर के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में संचालित एनएसएस शाखा द्वारा सात दिवसीय आवासीय कै ंप ग्राम नवरंगपुर में लगाया गया, जिसमें छटे दिन के प्रथम सत्र में ग्राम नवरंगपुर में महिलाओं को स्वास्थ्य व शिक्षा के प्रति जागरुक करने के लिए श्रीराम मंदिर प्रांगण में 22 बालिका व 30 बालक स्वयं सेवकों ने कै ंप लगाया, जिसमें प्रोढ़ साक्षरता, जनसंख्या नियंत्रण, सामुदायिक स्वास्थ्य व बच्चों को नियमित स्कू ल भेजने के प्रति जागरुकता का संदेश दिया। भोजन उपरांत द्वितीय सत्र में बोद्धिक उद्बोधन तहत सितवत खान, ज्ञानसिंह पचलासिया, सम्राट ढोके , मुकु ंद सिंह बरोड़िया व जितेन्द्र वर्मा ने संबोधित कि या। व्यायाम गतिविधि तहत बाधा दौड़, मछली जाल, नेता पहचान, जैसे पारंपरिक खेल आयोजित करवाए गए व शिविर प्रभारी निर्मलदास बैरागी सहयोगी व धीरज सिंह के मार्गदर्शन में शिविर की गतिविधियां संचालित की गई।

.....................................

लीड.....

34 ग्रामों के 5229 कि सानों के खाते में ढाई करोड़ से अधिक की राशि पहुंची

-राजस्व विभाग का अमला कि सानों के खातों में सोयाबीन का मुआवजा डालने में जुटा

आष्टा। प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने सोयाबीन की नष्ट हुई फसलों का मुआवजा कि सानों के खातों में सीधा डालने के लिए पूरे प्रदेश के कलेक्टरों को निर्देश दिए थे। अभी फिलहाल 25 प्रतिशत की राशि कि सानों के खातों में भेजी जा रही है। शेष 75 प्रतिशत की राशि कें द्र से सहायता राशि मिलने के बाद दी जाएगी, जिसके चलते आष्टा विकासखंड में 34 ग्रामों के 5229 कि सानों के खातों में ढाई करोड़ से अधिक की राशि डाली गई है। इस बार सरकार ने जिलों में सहायता राशि भेजने के बजाय ग्लोबल बजट पर पैसा डाला है, जिसमें जो भी जितनी जल्दी कि सानों के लिए बील लगाकर पैसा लेंगे, उन्हें पैसा मिलता जाएगा। वहीं दूसरी ओर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित पूर्व मंत्री व विधायकों ने विधानसभा में मुआवजा के संबंध में प्रश्न भी उठाया है, जिसके चलते अब पूरा अमला कि सानों के खातों में राशि पहुंचाने के लिए दिन रात एक कर रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आष्टा विकासखंड में कु ल 201 ग्राम है। जिसमें से 34 ग्रामों के 5229 कि सानों को 2 करोड़ 59 लाख 53 हजार 522 रुपए की राशि उनके खातों में पहुंचाई गई है। इस संबंध में तहसीलदार अभिषेक शर्मा से हमारे प्रतिनिधि ने चर्चा की तो उन्होंने बताया कि ग्राम मैना के 822 कि सानों के खातों में 46 लाख 65 हजार 598, मूंडला में 132 कि सानों के खातों में 5 लाख 73 हजार 112 रुपए, ग्राम टीपाखेड़ी में 48 कि सानों के खातों में 2 लाख 65 हजार 408, रसूलपुरा में 202 कि सानों के खातों में 7 लाख 55 हजार 660, हुसैनपुर खेड़ी में 158 कि सानों के खातों में 9 लाख 15 हजार 049 पटारिया गोयल में 234 कि सानों के खातों में 11 लाख 28 हजार 117, खामखेड़ा बैजनाथ में 379 कि सानों के खातों में 18 लाख 41 हजार 271, बरखेड़ा में 136 कि सानों के खातों में 7 लाख 9 हजार 206, नवरंगपुर में 107 कि सानों के खाते में 5 लाख 14 हजार 167, सामरदी ग्राम में 81 कि सानों के खातों में 3 लाख 30 हजार 674, टांडा में 124 कि सानों के खातों में 4 लाख 68 हजार 687, बाऊपुरा में 69 कि सानों के खातों में 2 लाख 98 हजार 779, पगारिया राम में 171 कि सानों के खातों में 7 लाख 57 हजार 567, बगडावदा के 130 कि सानों के खातों में 6 लाख 77 हजार 661, खेमपुर में 99 कि सानों के खातों में 4 लाख 62 हजार 724, डूका में 191 कि सानों के खातों में 7 लाख 73 हजार 879, वफापुर में 252 कि सानों के खाते में 9 लाख 77 हजार 200, देवगढ़ वीरान के 22 कि सानों के खातों में 78 हजार 751, मैनाखेड़ी के 122 कि सानों के खातों में 5 लाख 64 हजार 648, आंवलीखेड़ा के 110 कि सानों के खातों में 4 लाख 94 हजार 944, सेकड़ावदा ग्राम के 20 कि सानों के खातों में 1 लाख 13 हजार 992, मोलूखेड़ी के 97 कि सानों के खातों में 5 लाख 69 हजार 046, बैजनाथ ग्राम के 316 कि सानों के खातों में 13 लाख 25 हजार 628, लसूडिया विजयसिंह के 278 कि सानों के खातों में 15 लाख 7 हजार 914, मैमदाखेड़ी के 42 कि सानों के खातों में 2 लाख 8 हजार 151, झिरनिया बिरान गांव के 44 कि सानों के खातों में 1 लाख 97 हजार 462, कमालपुर खेड़ी के 62 कि सानों के खातों में 3 लाख 27 हजार 026, लोरासकलां के 154 कि सानों के खातों में 9 लाख 48 हजार 432, जगन्नाथपुरा के गुण 29 कि सानों के खातों में 1 लाख 56 हजार 623, शंकरपुर के 51 कि सानों के खातों में 3 लाख 15 हजार 1, कु मारिया वीरान गांव के 36 कि सानों के खातों में 2 लाख 26 हजार 485, लसूडिया खास ग्राम के 314 कि सानों के खातों में 14 लाख 66 हजार 142, भीलखेड़ी सड़क के 134 कि सानों के खातों में 9 लाख 27 हजार 084, छापरी ग्राम के 63 कि सानों के खातों में 4 लाख 11 हजार 434 डाले गए। इस प्रकार कि सानों के खातों में अभी सरकार ने 25 प्रतिशत सहायता राशि भेजी है। जिसमें 34 ग्रामों के 5229 कि सानों के खातों में 2 करोड़ 59 लाख 53 हजार 522 रुपए की राशि डाली गई है।

000000000000000000000000

प्रदेश सरकार ने कर्ज माफी का नया पैंतरा चला

-नए नामों का होगा पंजीयन, ऋण माफी के दूसरे चरण पर कब से अमल होगा

आष्टा। प्रदेश सरकार ने कर्जमाफी पर नया पैंतरा चला है। 8 माह से बंद पोर्टल को सोमवार दोपहर अचानक चालू करने का आदेश भेजा। नोडल एजेंसी कृषि विभाग ने इसे जिला सहकारी कें द्रीय बैंक और पंजीयन एजेंसी जनपद कार्यालय को फारवर्ड कर दिया। इसमें भी नया पेंच सामने आया। सर्कुलर का मुख्य बिंदु के वल नए नामों का पंजीयन करने को ही है। आदेश में ऋण माफी के दूसरे चरण पर कब से अमल होगा या माफी राशि जैसा कु छ भी जिक्र नहीं है। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता 10 मार्च 2019 को लगने के साथ राज्य में और ऋण माफी पर ब्रेक लगने के साथ पोर्टल बंद हो गया था। इससे इंतजार करने वालों को निराशा हाथ लगेगी। साथ ही स्पष्ट है कि कर्ज माफी में अभी और ज्यादा समय लग सकता है। 15 साल बाद सत्ता में आने पर कांग्रेस ने जय कि सान ऋण मुक्ति योजना बनाकर 2 लाख तक के ऋण वाले कि सानों की कर्जमाफी शुरु की थी। ज्यादातर को कर्जमाफी के नाम पर के वल प्रमाण-पत्र ही मिले।

00000000000000

समाजसेवी का निधन, श्रद्धांजलि दी

फोटो 34 आष्टा। रखबलाल जैन पोरवाल।

आष्टा। श्री दिगंबर जैन समाज के समाजसेवी 85 साल के रखबलाल जैन पोरवाल का बुधवार को आकस्मिक निधन हो गया। दोपहर को शवयात्रा उनके निवास स्थान से निकाली गई, जिसमें काफी संख्या में नागरिकों, समाजजन व जनप्रतिनिधियों ने शामिल होकर अंतिम विदाई दी। मुक्तिधाम पर उनके पुत्र कमल कु मार, राज कु मार, सुरेंद्र कु मार, नरेंद्र कु मार पोरवाल ने मुखाग्नि दी। साथ ही सभी ने सामूहिक रुप से 2 मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

Posted By: Nai Dunia News Network