आष्टा। कर्म ही प्रधान हैएजो जैसा कर्म करता है, वैसा ही फल उसे मिलता है। होता वही है, जो परमात्मा चाहते है, मनुष्य परमात्मा के किए, पर तर्क, वितर्क किस बात का करे। संस्कार व सकारात्मक विचारों से घर स्वर्ग के समान बनता है। मनुष्य को रोजाना श्रीकृष्ण शरणम् मम का जाप करना चाहिए। ईश्वर का नाम घर की शोभा व संस्कार बढ़ाने के काम आता है। जंजीर सोने की हो या लोहे की, काम उसका बांधना होता है। इसी प्रकार हम भी मोह-माया को त्याग कर ईश्वर के भजन कीर्तन में बंध जाए तो ही हमारा कल्याण होगा, लेकिन मनुष्य मोह-माया में बंधा हुआ है।

उक्त बातें नगर की साईं कालोनी में चल रही सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा के दूसरे दिन भागवताचार्य पंडित गीता प्रसाद शर्मा डूका वालो ने अपने मुखारबिंद से कथा श्रवण कराते हुए कही। आपने कहा मनुष्य को सदैव अपने विचारों में सकारात्मकता लाना चाहिए। इससे घर-परिवार में आध्यात्मिक रूप से परम आनंद की प्राप्ति होती है। जीवन में सारे विषय अपूर्ण है। पूर्ण केवल परमपिता परमात्मा ही है। संतों का सत्संग, भजन-कीर्तन व कथा श्रवण से ही ईश्वर का महाप्रसाद प्राप्त होता है। पंडित शर्मा ने तामस, राजस व सात्विक गुण की महिमा का बखान किया। उन्होंने कहा ईश्वर की भक्ति त्रिगुणात्मक है।

जीवन को अहंकार रहित बनाएं

व्यासपीठ से पंडित गीता प्रसाद शर्मा ने कहा हमें सदैव ईश्वर का धन्यवाद देना चाहिए कि उन्होंने हमें एक सुंदर मानव योनि के साथ मानव शरीर प्रदान किया है। हमारे जीवन में चाहे कितने भी दुख.तकलीफ क्यों ना आए हमें किसी को कभी भी धोखा नहीं देना चाहिए। अपने जीवन को सदैव अहंकार रहित बनाने का प्रयास करें। हमारे जीवन के मुख्य 3 आयाम जन्मए जीवन व मृत्यु है। यह सदैव सुखमय रहे।कथा श्रवण करने पूर्व विधायक रंजीतसिंह गुणवान, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष कैलाश परमार, प्रभुप्रेमी संघ के महासचिव प्रदीप प्रगति, प्रेमनारायण शर्मा, प्रेमनारायण गोस्वामी, मोहनसिंह अजनोदिया, खाती समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बीएएस वर्मा द्वारा कथाचार्य पण्डित श्री शर्मा का शाल श्रीफल भेंट कर सम्मान किया एवं आशीर्वाद लिया। कथा के आयोजक आष्टा के वरिष्ठ समाजसेवी प्रेम कुमार राय मामा, साधना राय, डॉ कुणाल राय, सपना राय हैं। कथा समिति के प्रमुख राजा पारख, अवधनारायण सोनी, लाली भाई, हुकुमचंद मेहता, कैलाश मेवाड़ा व उमेश पांडेय द्वारा सुचारू रूप से कथा की व्यवस्थाओं को मूर्तरूप दिया जा रहा है। कथा की व्यवस्था का संचालन प्रसिद्ध भजन गायक मानस प्रेमी राजेंद्र जायसवाल द्वारा किया जा रहा है। सभी धर्मप्रेमियों से आग्रह किया जाता कि कथा श्रवण के लिए दोपहर 1 से 4 बजे पधार कर धर्मलाभ ले। कथा श्रवण करने भाजपा महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष रितु जैन, तारा कटारिया, सुनिता सोनी आदि उपस्थित थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local