आष्टा। नवदुनिया न्यूज

परिवहन विभाग ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ने की तैयारी कर रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य लाइसेंसधारियों पर नजर रखना है। अगर कि सी हादसे के बाद चालक का ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कि या जाता है तो वह दोबारा आसानी से बनवा लेते हैं, लेकि न आधार कार्ड से जुड़ने के बाद निरस्त लाइसेंस दोबारा नहीं बन पाएगा।

ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ने का अभियान प्रदेश स्तर पर चलाया जाएगा। इस तरह परिवहन विभाग वाहन चालकों पर पैनी नजर रख सके गा। समस्त ड्राइविंग लाइसेंस आधार कार्ड से जुड़ने के बाद अगर कोई व्यक्ति लापरवाही से वाहन चलाकर तीन बार एक्सीडेंट करेगा, तो उसका लाइसेंस हमेशा के लिए ब्लॉक कर दिया जाएगा। इसके बाद वह दूसरा लाइसेंस बनवाने की कि तनी ही कोशिश कर ले, लेकि न सफल नहीं हो पाएगा। क्योंकि आवेदन करने के बाद उसकी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। हादसों की मुख्य वजह है ड्राइविंग लाइसेंस का आसानी से बन जाना। लंबे समय से देखने में आ रहा है कि आरटीओ कार्यालय में एजेंट लाइसेंस बनवाने वालों से मोटी रकम लेकर उनका काम करवा देते हैं।

स्कू ल में भी पढ़ाया जाएगा नियम

परिवहन विभाग के अधिकारियों की मानें तो सड़क हादसों पर रोक लगाने के लिए प्रदेश में विशेष अभियान चलाया जाएगा। जागरूकता के लिए नए शिक्षण सत्र से 11वीं और 12वीं कक्षा के पाठ्यक्रम में यातायात नियमों का अध्याय भी जोड़ा गया है। इससे युवाओं को यातायात के नियमों की जानकारी मिलेगी। परिवहन आयुक्त शैलेंद्र श्रीवास्तव के मुताबिक ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ने का प्लान है।

00000000000

अलीपुर दुग्ध डेयरी व रोड कि नारे से अतिक्रमण हटाने की मांग

आष्टा। नगर के अलीपुर के नागरिकों ने शासकीय दुग्ध शीत कें द्र व अलीपुर रोड कि नारे शासकीय भूमि पर अतिक्रमण हटवाने के संबंध में एक ज्ञापन प्रभारी अनुविभागीय अधिकारी तहसीलदार अजय प्रताप पटेल को सौंपा। प्रभारी अनुविभागीय अधिकारी श्री पटेल ने इस संबंध में मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निर्देशित कि या हैं। जानकारी के अनुसार अलीपुर के मनोज पांचाल, मेहरबान मेवाड़ा, मोहन सिंह, योगेंद्र सिंह परिहार, श्रीपाल जैन, हेमराज, महेश पांचाल, सेवाराम, सुनीता जैन आदि ने प्रभारी अनुविभागीय अधिकारी श्री पटेल को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उल्लेख कि या गया कि शासकीय दुग्ध डेयरी के सामने अलीपुर व मार्ग से निकलने वाले स्टेट हाईवे किनारे पर कु छ असामाजिक तत्वों द्वारा शासकीय जमीन पर अतिक्रमण कर झुग्गी झोपड़ियों का निर्माण कर लिया है। प्रतिदिन शाम को शराब व अन्य प्रकार का नशे कर झगड़े करते हैं। इनके द्वारा आसपास के स्थानों पर गंदगी फै लाई जा रही है। जिसके कारण अलीपुर के लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से इनका यहां निवास करना उचित नहीं है।

0000000000

श्मशान से अतिक्रमण हटाने व सीमांकन के लिए लिखा पत्र

आष्टा। नगर के अलीपुर डोराबाद में श्मशान भूमि व शासकीय भूमि पर अतिक्रमण होने के कारण वहां का विकास के साथ-साथ सौंदर्यीकरण का कार्य नहीं हो रहा है। नगर पालिका अध्यक्ष ने अलीपुर के नागरिकों की मांग पर इस संबंध में एक पत्र तहसीलदार को भेजकर उक्त भूमि का सीमांकन करवाने तथा अतिक्रमण हटवाने के लिए आग्रह कि या है। दूसरी ओर तहसीलदार ने उक्त पत्र को गंभीरता से लेकर तत्काल राजस्व निरीक्षक व पटवारी को सीमांकन कराने के आदेश जारी कि ए हैं।

जानकारी के अनुसार नगर पालिका अध्यक्ष कै लाश परमार ने अपने पत्र में उल्लेखित कि या है कि नगर की भौगोलिक सीमाओं में बसाहट का विस्तार हुआ है। बढ़ती आबादी को देखते हुए नगर पालिका द्वारा नगर के सार्वजनिक स्थलों का विकास किया जाना लोकहित में आवश्यक है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए नगर पालिका अध्यक्ष कै लाश परमार ने अजय प्रताप पटेल तहसीलदार को एक पत्र लिखा है। उसमें उल्लेखित कि या है कि अलीपुर क्षेत्र में शासकीय भूमि खसरा नंबर 163 रकबा 1.108 हेक्टेयर भूमि डोराबाद भूमि श्मशान के लिए आरक्षति है, लेकि न उक्त भूमि पर अतिक्रमण होने व सुविधाएं नहीं होने के कारण अलीपुर क्षेत्र के मृत व्यक्तियों का दाह संस्कार नगर के भोपाल नाके के आगे स्थित श्मशान घाट पर कि या जाता है। शव को श्मशान तक लाने में नागरिकों को परेशानी होती है। अलीपुर के नागरिकों द्वारा नपाध्यक्ष से उक्त भूमि का सीमांकन करवाकर अतिक्रमणकर्ताओं का अतिक्रमण हटवाने की मांग करते हुए श्मशान घाट का विकास कराए जाने की मांग की है। नपाध्यक्ष श्री परमार ने तहसीलदार अजय प्रताप पटेल से शासकीय भूमि का सीमांकन करवाकर अतिक्रमणकर्ताओं का अतिक्रमण हटवाने का आग्रह कि या। श्री परमार ने पत्र में लिखा है कि यहां नगर पालिका द्वारा सौंदर्यीकरण व विकास कार्य कराए जा सकें गे, जिससे अलीपुर क्षेत्र के नागरिक गण लाभांवित होंगे।

तहसीलदार ने आरआई को दिए निर्देश

इस संबंध में जब तहसीलदार श्री पटेल से चर्चा की गई, तो उन्होंने बताया कि उक्त पत्र को गंभीरता से लेकर तत्काल राजस्व निरीक्षक योगेश श्रीवास्तव व पटवारी शिवचरण रणकोशल को निर्देशित कि या गया है कि तत्काल सीमांकन कराकर प्रतिवेदन भेजें। मुख्य नगरपालिका अधिकारी आवश्यक होने पर वे स्वयं व थाना प्रभारी को भी मौके पर लेकर जाएं।

000000000000000

शहीद संदीप यादव को दी श्रद्धांजलि

फोटो 10 आष्टा। नपाध्यक्ष श्री परमार श्रद्धांजली देते हुए। फोटो नवदुनिया

आष्टा। वंदे मातरम, भारत माता की जयघोष के साथ भारत मां के वीर सपूत शहीद संदीप यादव का लोगों ने श्रद्धांजलि दी। संदीप की पार्थिव देह बायपास चौराहे पर पहुंचने पर नगर की ओर से नगर के प्रथम नागरिक नपाध्यक्ष कै लाश परमार ने पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित कि ए। गौरतलब है कि बुधवार को अनंतनाग में हुए आतंकी हमले में कु लाला देवास निवासी सीआरपीएफ के जवान संदीप यादव पिता कांतिलाल यादव शहीद हो गए थे। इस अवसर पर कांग्रेस नेता सरपंच राजेश यादव, भूतपूर्व सैनिकों के साथ बड़ी संख्या में नगर व आसपास के ग्रामीणजन भी श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे।