अरी। जनपद पंचायत बरघाट की विभिन्ना्‌ छोटी पंचायतों में जगह-जगह पर विर्सजन घाट के निर्माण पर लाखों र्स्पये खर्च किए गए हैं। वही अरी में बड़ा तालाब व जुम्माटोला का छोटा तालाब अब तक घाटों के लिए तरस रहे हैं। ग्राम वासियों द्वारा छोटा तालाब जुम्मा टोला में घाट बनाए जाने को लेकर कई बार क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों का ध्यान दिलाया है। लेकिन जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते अभी तक ना तो तालाबों की साफ-सफाई हो पाई और ना ही इसमें विसर्जन घाट का निर्माण हुआ है।

बरघाट जनपद पंचायत के अंतर्गत कई पंचायत ऐसी है जहां दो-दो जगह घाट बनाए जा चुके हैं। परंतु बरघाट जनपद की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत अरी, जहां पर एक बड़ा तालाब बस्ती व अमराई टोला के बीच बना हुआ है। दूसरा तालाब जुम्माटोला का है, जो सफाई व मरम्मत के लिए सालों से तरह रहे हैं। जनपद क्षेत्र में कहने के लिए जल संरक्षण के नाम पर करोड़ों र्स्पये के काम कराए जा रहे हैं, लेकिन सालों से उपेक्षित जल स्त्रोतों को संवारने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है।

जनप्रतिनिधि द्वारा अरी वासियों की जनभावनाओं को अनदेखा किया जा रहा है। इस तालाब में घाट बनाया अत्यंत जरूरी है, क्योंकि क्षेत्रवासियों की जन भावनाएं यहां से जुड़ी हुई है। तालाब में जवारे विसर्जन, पूजा विसर्जन, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी में कृष्ण की मूर्ति का विसर्जन, गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन, दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाता है। धर्म प्रेमियों व ग्राम वासियों के लिए तालाब व घाट की सफाई कराई जाना बेहद जरूरी है। लेकिन तालाब चारों ओर गंदगी व दुर्दशा का शिकार है। लोगों को मुश्किल से तालाब में सफाई करके प्रतिमा विसर्जन करने जाना पड़ता है। इसके बावजूद भी ना ही ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधि व क्षेत्र के नेता इस ओर ध्यान दे रहे हैं। जुम्मा टोला के तालाब पर घाट बनाने व तालाब की मरम्मत कार्य कराने की मांग क्षेत्रवासियों द्वारा की गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local