सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले का सोना चांदी बाजार प्रदेश व देश में मशहूर है। बेहतरीन कारीगरी व किफायती दाम पर मिलने वाले जेवर को खरीदने दूर-दूर से खरीदार सिवनी पहुंचते हैं। कई प्रदेशों के व्यापारियों द्वारा बड़ी मात्रा में सोना चांदी जेवर लाकर थोक व्यापारियों को बेचा जाता है। यह सिलसिला बीते कई सालों से चला आ रहा है। बाहर से आने वाले व्यापारी सोना चांदी पर लगने वाला टैक्स बचाने बिना बिल पर सोना चांदी के जेवर थोक व्यापारियों को बेचकर चले जाते हैं। शहरवासियों व खरीदारों को जिले के व्यापारियों द्वारा यही जेवर व सामग्री बेची जाती हैं। कोतवाली पुलिस बल ने पिछले साल एक माह में दो बार बड़े व्यापारियों को बिना बिल के करोड़ों रुपये के सोना चांदी के जेवरों के साथ पकड़ा था। पुलिस ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर प्रकरण इनकम टैक्स विभाग को सौंप दिया था। पुलिस की कार्रवाई के बाद सोना-चांदी व्यापारियों में हड़कंप मच गया था। कुछ माह तक अन्य प्रदेशों के व्यापारियों ने सोना-चांदी सिवनी लाना बंद कर दिया था। लेकिन पुलिस के सुस्त होते ही अन्य जिलों व प्रदेशों से होने वाला सोना चांदी का व्यापार एक बार फिर फलने फूलने लगा है। सूत्रों के मुताबिक दीपावली धनतेरस के लिए हर दिन बाहर से व्यापारी करोड़ों रुपये का सोना चांदी के जेवर बिना बिल के लेकर सिवनी पहुंच रहे हैं। लेकिन बीते एक साल में पुलिस अन्य किसी व्यापारी को बिना बिल के सोना चांदी का कारोबार करते पकड़ने में सफल नहीं हो सकी हैं।

कम कैरेट का सोना, दाम पूरे : सिवनी में सोना चांदी का व्यापार पैतृक रूप से गिने चुने व्यापारियों द्वारा किया जा रहा है।सोना चांदी के जेवरों की भारी डिमांड होने के कारण यह कारोबार हर साल कई गुना बढ़ोत्तरी कर रहा है। व्यापारियों द्धारा खरीदारों से सोने के जेवर पर 24 कैरेट के दाम तो वसूले जाते हैं लेकिन खरीदार को कम कैरेट अथवा 90 से 95 फीसद सोना ही दिया जाता है।जांच की व्यवस्था ना होने के कारण खरीदार ठगे जा रहे हैं।

जब्त हुआ था कई किलो सोना चांदी : कोतवाली पुलिस ने 25 जुलाई 2020 को मुखबिर से मिली सूचना पर तीन लोगों को 20 लाख के सोने के जेवर सहित पकड़ा था। जांच के दौरान तीनों के पास से सात किलो चांदी व आधा किलो सोने के जेवर मिले थे। बिना बिल सोना चांदी बेचने आए मथुरा के व्यापारी राजेश गुप्ता, ड्राइवर व एक अन्य व्यक्ति पर पुलिस धारा 102 के तहत प्रकरण दर्ज का मामला आयकर विभाग को सौंपा था। इसी तरह 23 अगस्त को कोतवाली पुलिस ने शहर के एक होटल में रुके पंजाब के तरणतारण व इंदौर के पांच व्यापारियों के कब्जे से सवा करोड़ कीमत के सोना चांदी के जेवर जब्त किए थे। इसमें 44 किलो चांदी के आभूषण व सिल्लियां सहित 400 ग्राम सोने के जेवर बिना बिल के व्यापारियों से जब्त किए गए थे। इस मामले को भी पुलिस ने आयकर विभाग के सुपुर्द कर दिया था। इनकम टैक्स विभाग के मुताबिक पुलिस द्वारा सौंपे गए सोना-चांदी जेवर के मामले में पंचनामा कार्रवाई कर प्रकरण जबलपुर भेज दिया गया था, जहां से प्रकरण संबंधित जिले के इनकम टैक्स विभाग को भेजकर आगे की जांच व कार्रवाई की जाती हैं।

.................

बाहर से आकर सोना चांदी बेचने वाले व्यापारियों के संबंध में जानकारी ली जाएगी। सूचना तंत्र को मजबूत कर मामले में कार्रवाई करने अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों को निर्देशित करेंगे।

-एसके मरावी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिवनी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local