सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना कोहराम मचा रहा है। अब हर दिन बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। गुरूवार को आई रिपोर्ट में 75 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है। इसके साथ ही जिले में कोरोना संक्रमितों का आकड़ा 300 के करीब पहुंच गया है। इसके बाद भी लोग नहीं मान रहे हैं। कई लोग अब भी मास्क नहीं लगा रहे है। दुकानों में लोगों की भीड़ देखी जा रही है। इधर प्रशासन की सख्ती भी गायब है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला अस्पताल के अलावा दूसरे वैकल्पिक स्थानों में इंतजाम किए जा रहे हैं। प्रशासन का कहना है कि वह स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए है और इंतजाम लगातार स्थिति के हिसाब से बढ़ाए जा रहे हैं। फिलहाल जिले में कोरोना के 298 एक्टिव केस हैं। जिनमें से 219 मरीज होम आइसोलेट हैं।

अस्पताल में 164 कोरोना मरीजों के इलाज का इंतजाम-

जिले में कोरोना से निबटने के लिए कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर बनाया गया है। जिला अस्पताल में फिलहाल 164 मरीजों के इलाज के इंतजाम हैं। फिलहाल जिला अस्पताल में 79 मरीजों का इलाज जारी है। वहीं कम गंभीर मरीजों का इलाज घरों में हो रहा है।

यहां बनाए जा रहे केंद्र-

जिले में हाल में तेजी से मरीजों की संख्या में इजाफो को देखते हुए जिले के लखनादौन, घंसौर और कुरई में मरीजों के इलाज के लिए कोविड केयर सेंटर बनाए जा रहे हैं। जरूरत पड़ने पर और भी सेंटर बनाए जा सकते हैं। जिला अस्पताल में 164 बैड बनाए गए हैं। इनमें से 70 ऑक्सीजन वाले बैड हैं। 14 बैड क्षमता वाला कोविड आइसीयू क्षमता वाले चार वार्ड हैं।

हर दिन बढ़ रहे मरीज-

जिले में पिछले 24 घंटों में प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 75 व्यक्तियों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट है। वहीं 22 मरीज स्वस्थ हुए है। सीएमएचओ केसी मेश्राम से प्राप्त जानकारी के अनुसार अब तक जिले में कुल 79288 संदिग्ध व्यक्तियों के नमूने लिए गए हैं। इसमें से 2126 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। इनमें 1818 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में कोरोना के 298 एक्टिव केस हैं। जिनमें से 219 मरीज होम आइसोलेट हैं। इनकी मॉनिटरिंग कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर से की जा रही है।

अप्रैल में कोरोना का कोहराम

01 अप्रैल को मिले 25 मरीज

02 अप्रैल को मिले 09 मरीज

03 अप्रैल को मिले 42 मरीज

04 अप्रैल को मिले 56 मरीज

05 अप्रैल को मिले 56 मरीज

06 अप्रैल को मिले 62 मरीज

07 अप्रैल को मिले 68 मरीज

08 अप्रैल को मिले 75 मरीज

बीपी, शुगर व अन्य जटिल बीमारी वालो को रखना होगा विशेष ध्यान

सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। देखने में आ रहा है कि ऐसे व्यक्ति जो ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, किडनी, अस्थमा, कैंसर आदि से पीड़ित है वे सर्दी-जुखाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिर दर्द, बदन दर्द, भूख न लगना, दस्त लगना आदि के लक्षण होने पर वे घर पर ही अपना पांरपरिक इलाज करना प्रारंभ कर देते है। ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते है। उन्हे स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय बीमारी और जटिल हो जाती है व उन्हे अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। सीएमएचओ ने बताया है कि ऐसी स्थिति में यदि कोविड जांच पॉजिटिव आती है तो उलाज और जटिल हो जाता है। ऐसे मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट या आइसीयू में भर्ती कर इलाज करना पड़ता है। इससे मरीज को अत्यधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है व कभी कभी अप्रत्याच्चित घटना भी घट जाती है। उपरोक्त बीमारियों से प्रभावित व्यक्तियों को सलाह दी जाती है कि वे सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, हाथ पैर दर्द, सिद दर्द, शरीर में एठन, भूख न लगना, खाने-सूंघने में स्वाद का पता न लगना आदि लक्षणों के आते ही डॉक्टर से परामर्श लेकर आवश्यक (कोविड-19 जांच) जांच करवाकर समय रहते पूर्ण इलाज लेकर स्वस्थ्य होना सुनिश्चित करेंगें।

कोरोनाःडालडा फैक्ट्री के पास स्थित श्मशान घाट में किया जाएगा अंतिम संस्कार

सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना से हुई मृत्यु पर शवों का अंतिम संस्कार अब कटंगी रोड स्थित मोक्षधाम की बजाए बाबरिया डालडा फैक्ट्री के पास स्थित श्मशान घाट में किया जाएगा। इस के लिए तत्काल ही नगर पालिका प्रशासन को आदेश देने का आश्वासन भाजपा जिला अध्यक्ष को कलेक्टर ने दिया गया। कलेक्टर से हुई चर्चा में यह बात रखी थी कि सामान्य मृत्यु व कोरोना से हुई मृत्यु पर शवों का अंतिम संस्कार सिवनी के कटंगी रोड स्थित मोक्षधाम में किया जा रहा है। इससे कोरोना फैलने का खतरा और बढ़ सकता है। जिला प्रशासन इस ओर ध्यान देते हुए इस पर उचित कार्रवाई करे। चर्चा पर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर ने उन्हें आश्वासन दिया कि वे इसे के लिए नगर पालिका को आवश्यक निर्देश देंगे। भाजपा जिलाध्यक्ष ने समस्त जिले वासियों से कहा है कि कोरोना संकट एक राष्ट्रव्यापी संकट के रूप में उभरा है। इस संकट से उबरने का सबसे अच्छा उपाय है कि हमें सभी सावधानियां बरतनी होंगी। हमें हमारे भीतर इस भाव को जगाना होगा कि हमारा जीवन संबंधों के बजाय, कर्तव्यों के लिए समर्पित होना चाहिए। तब ही हम इस राष्ट्रीय आपदा से उबरने में अपना योगदान दे सकेंगे।

न तो रूट तय हुए, न ही भंडारण के लिए बनी व्यवस्था

सिवनी।(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में समर्थन मूल्य पर होने वाली गेहूं खरीदी के लिए पूरी व्यवस्थाएं प्रशासन नहीं बना पाया है। आलम यह है कि मार्कफेड के अधिकारियों ने वैकल्पिक व्यवस्था का हवाला देकर गेहूं परिवहन का काम चालक परिचालक संघ बनवाकर दे दिया। न तो रूट तय हुए और न ही भंडारण के लिए व्यवस्था बनी। ऐसे में बारिश होने पर बड़ी संख्या में पिछले साल की तरह गेहूं खराब हो सकता है। अभी भी बड़ी मात्रा में गेहूं खुले में पड़ा हुआ है।

जिले में बनाए गए 115 गेहूं खरीदी केंद्रों में अब किसान धीरे-धीरे अपनी उपज लेकर पहुंचने लगे हैं। जहां खरीदी हो रही है वहां पर गेहूं की बोरियों का ढेर लगने लगा है। स्टैग बनाए जा रहे हैं तो कहीं बोरियां फैलाकर रखा जा रहा है। केंद्र प्रभारियों का कहना है कि यदि गेहूं का परिवहन नहीं हुआ और बारिश हुई तो बड़ी दिक्कतें हो सकती हैं। पहले से ही केंद्रों में चबूतरे का निर्माण नहीं हो पाया है।

गेहूं खरीदी को लेकर मार्कफेड के पास व्यवस्थाएं पहले से तय नहीं है। परिवहन के लिए अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है जबकि खरीदी की शुरुआत हो चुकी है और खरीदा जा रहे गेहूं के ढेर लगने लगे हैं। परिवहन के लिए व्यवस्थाएं नहीं बनी हैं। वैकल्पिक रूप से जिन्हें काम दिया गया है उनके पास संसाधन नहीं है और न ही प्रशासन के पास। ऐसे में आने वाले समय में परिवहन और भंडारण व्यवस्था लड़खड़ा सकती है।

इनका कहना है

गेहूं खरीदी होने लगी है। सभी व्यवस्थाएं की जा रही हैं। परिवहन के लिए स्वीकृति नहीं मिली है। अभी वैकल्पिक रूप से चालक परिचालक संघ के माध्मय से काम कराया जा रहा है। किसी प्रकार की कोई दिक्कतें नहीं होंगी।

एसके सिन्हा,

जिला विपणन अधिकारी, सिवनी

विवाद के चलते फंदे पर झूला युवक

सिवनी। धूमा थाने के सलैया गांव में एक युवक ने फंदे पर झूलकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने मर्ग कायम कर प्रकरण की जांच पड़ताल शुरु की है। पुलिस के अनुसार सलैया निवासी घनश्याम ने परिवार में नशे की हालत में विवाद कर लिया था। इसके पहले वह बाइक से गिर गया था। विवाद से परेशान होकर वह गांव के पास ही पेड़ में फंदे में झूलकर उसने खुदकुशी कर ली।

कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने प्रमुख सचिव को बताईं समस्याएं

सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगरीय प्रशासन विभाग मध्यप्रदेश के प्रमुख सचिव मनीष सिंह के आगमन कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल ने उनसे मिलकर सिवनी नगर पालिका से संबंधित समस्याओं से अवगत कराया।

प्रतिनिधि मंडल ने प्रमुख सचिव को बताया कि सिवनी नगर पालिका के अंतर्गत प्रधानमंत्री आवास के एएचपी घटक के हितग्राहियों को सिवनी से 5 किलोमीटर दूर कंडीपार गांव में आवास दिए जाने थे जिन आवासों का कार्य ठेकेदार द्वारा अधूरा छोड़ दिया गया है। हितग्राहीयों से 20 हजार र्स्पये की राशि दो वर्ष से अधिक जमा करा ली गयी है, लेमिकन नगर पालिका द्वारा उक्त आवासों को पूर्ण कराने में कोई रूचि नही ली गयी।

नवीन जलावर्धन योजना के ठेकेदारों को कार्य पूर्ण किए बिना ही 2 वर्ष पूर्व योजना संचालन-संधारण के लिए हस्तांतरित कर दी गयी। वर्तमान में ठेकेदार द्वारा नवीन नल कनेक्शन के 10 प्रतिशत नलों में भी पानी नही दे पा रहा है। ठेकेदार को 5 वर्ष का जल प्रदाय का संचालन-संधारण करना है। श्री सिंह से निवेदन किया गया कि नवीन जलावर्धन योजना से जब तक शतप्रतिशत जलापूर्ति सिवनी नगर में नही की जाती उसे हस्तांतरित की गयी जल प्रदाय योजना का संचालन संधारण निरस्त किया जाए।

प्रमुख सचिव को बताया गया कि सिवनी नगर पालिका में लगातार कई वर्षो से सफाई कर्मचारी व अन्य कर्मचारी सेवा निवृत्त हो रहे है। कार्य के दौरान मृत हो रहे है, उनके स्थान पर अन्य कर्मचारियों को भर्ती नही होने से नगर पालिका का कार्य प्रभावित हो रहा है। सफाई व्यवस्था में लगे कर्मचारियों की संख्या वार्डो में कम होते जा रही है। जिसका प्रभाव सफाई व्यवस्था पर पड़ रहा है। सिवनी नगर पालिका में अतिरिक्त कर्मचारी भर्ती की मांग की गई। संबल बीमा योजना के हितग्राहियों द्वारा समस्त दस्तावेज सहित आवेदन 1 वर्ष से अधिक का समय हो गया है लेकिन उन्हें अभी तक 2 लाख र्स्पये बीमा राशि अप्राप्त है, संबल बीमा योजना के हितग्राहियों को तत्काल बीमा राशि दिलाए जाने की मांग की गयी। इस अवसर पर नगरपालिका के पूर्व उपाध्यक्ष राजिक अकील, अशोक चौबे, राजेश मानाठाकुर, देवधर सक्सेना, अेश्वर्य सुमित मिश्रा, नवीन चौबे उपस्थित रहे।

साहित्य भास्कर से सम्मानित हुए प्रमोद

फोटो 2 कहानी। सम्मानित हुए प्रमोद।

कहानी (नईदुनिया न्यूज)। साहित्य और काव्य जगत में धीरे-धीरे अपनी पहचान बनाने की ओर अग्रसर नगर कहानी के रचनाकार प्रमोद गोल्हानी सरस को श्रीराम की कर्मस्थली चित्रकूट में आयोजित साहित्यदीप महाकुंभ में साहित्यदीप भास्कर सम्मान से सम्मानित किया गया।

साहित्यिक समूह साहित्यदीप द्वारा आयोजित की गई साहित्य प्रतियोगिता में देशभर के लगभग 200 रचनाकारों ने भाग लिया। एक माह तक चली यह प्रतियोगिता विभिन्ना्‌ चरणों में संपन्ना्‌ हुई। अंत में प्रतियोगिता के फाइनल स्तर तक मात्र 30 प्रतिभागी ही पहुंचे। इनमें प्रमोद गोल्हानी सरस का नाम भी शामिल रहा।

तीन चरणों में संपन्ना्‌ हुए फाइनल में बेहतरीन रचनाओं के आधार पर प्रमोद गोल्हानी को साहित्यदीप भास्कर सम्मान प्रदान किया गया। इस अवसर पर देश के अलग-अलग स्थानों से पहुंचे रचनाकारों का काव्यपाठ भी हुआ। जहां अपने बेहतरीन काव्य पाठ से प्रमोद गोल्हानी ने उपस्थित वरिष्ठ कवियों व रचनाकारों को मंत्रमुग्ध करते हुए खूब तालियां बटोरी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags