सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मंडला-नैनपुर-सिवनी-छिंदवाड़ा प्रोजेक्ट में सिवनी से चौरई के बीच शेष रह गए काम के पूरा होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे शहरवासियों को जल्द सिवनी-कटंगी नई रेललाइन की सौगात मिल सकती है। रेलवे द्वारा जल्द ही इसका सर्वे प्रारंभ किया जाएगा। सर्वे के बाद यदि सिवनी-कटंगी रेललाइन बिछाने का फैसला किया जाता है तो सिवनी सीधे नागपुर व बालाघाट से जुड़ेगा ही साथ ही सिवनी स्टेशन जंक्शन स्टेशन भी बन जाएगा।

सड़क मार्ग की 50 किमी है दूरीः सिवनी से कटंगी की सड़क मार्ग से दूरी सिर्फ 50 किमी हे। सिवनी से आमागढ़, अरी, गंगेर्स्आ होते हुए कटंगी तक सीधा सड़क मार्ग है। कटंगी रेल मार्ग से बालाघाट से जुड़ा है, वहीं कटंगी से तिरोड़ी, तुमसर होते हुए इतवानी (नागपुर) तक रेल मार्ग है। सिवनी-कटंगी रेल लाइन बिछाए जाने पर सिवनी वासियों को सीधा फायदा मिलेगा। सिवनी से बालाघाट व नागपुर तक सीधा रेलमार्ग हो जाएगा। लोग यहां से सीधे बालाघाट व नागपुर आवागमन कर सकेंगे।

पहले भी हो चुका है सर्वेः सिवनी-कटंगी रेल लाइन के लिए पूर्व में भी सर्वे कराया जा चुका है। इस सर्वे को रेलवे ने रिजेक्ट कर दिया गया था। दरअसल, सर्वे में सिवनी से कटंगी तक 90 किमी का रूट बनाया गया था। यह रूट कहां से होते हुए दर्शाया गया था यह अब तक सामने नहीं आ पाया है। इसके बाद सांसद डॉ ढालसिंह बिसेन ने पुनः प्रयास किए और रेलमंत्री को वस्तुस्थिति की जानकारी देते हुए फिर से सर्वे कराने का आग्रह किया था। रेल मंत्री के निर्देश पर नए सिरे से सर्वे कराने का आदेश हुआ।

सिवनी-कटंगी के बीच नई रेललाइन के लिए जल्द ही सर्वे प्रारंभ होने वाला है। यह रेल लाइन बिछती है तो सिवनी सीधे नागपुर व बालाघाट से जुड़ जाएगा।

डा. ढालसिंह बिसेन, सांसद

डेंगू के लिए जागरूकता रैली

सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला अस्पताल परिसर से गुर्स्वार को डेंगू के बचाव के लिए जागरूकता रेली निकाली गई। सीएमएचओ डॉ राजेश श्रीवास्तव ने हरी झंडी देकर रैली को रवाना किया। रैली में सिविल सर्जन डॉ विनोदव नावकर, स्मृता नामदेव, रामजी भलावी, डॉ पी सूर्या, डॉ दीपक अग्निहोत्री, शांति डहरवाल, संजय दुबे उपस्थित रहे। जागरूकता रैली का मुख्य उद्देश्य लोगों में जागरूकता पैदा करना है ताकि डेंगू, मलेनिया व चिकनगुनिया जैसी बीमारियों से बचा जा सके। ज्ञात हो कि जिले में करीब 75 डेंगू के मरीज हो चुके हैं। जिले में लगातार डेंगू के मरीज सामने आ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि छिड़काव भी किया जा रहा है। ग्रामीण इलाकों में विशेष नजर रखी जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local