सिवनी, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले के वन विकास निगम बरघाट प्रोजेक्ट के केवलारी वन परिक्षेत्र की मोहगांव बीट के कक्ष. 712 में 15 सितंबर की सुबह जलाऊ लकड़ी बीनने गई एक महिला की तेंदुए के हमले में मौत हो गई है। जबकि साथ गई अन्य दो महिलाएं व एक पुरूष मौके से भाग निकले।

तेंदुए के हमले से लहुलुहान बैगा जाति की आदिवासी महिला रंजीता पति स्व. मोहबत सिंह दास (50) की मौके पर मौत हो गई। सूचना मिलते ही वन विकास नगम के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे गए। पंचनामा कार्रवाई के बाद शव का पोस्ट मार्टम कराया जा रहा हैं। वहीं आक्रोशित परिवार के सदस्यों व ग्रामीणों को समझाइश देकर मामले को शांत किया। मृतक महिला के स्वजनों को तत्काल सहायता के तौर 10 हजार स्र्पये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई गई है। जबकि वन्यप्राणी के हमले से क्षति पर 3.90 लाख स्र्पये की सहायता राशि उपलब्ध कराने प्रकरण तैयार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

सिवनी वन विकास निगम के मंडल प्रबंधक वीसी मेश्राम ने नईदुनिया को बताया कि मोहगांव निवासी बैगा जाति की आदिवासी महिला रंजीता अन्य दो महिलाओं व एक पुरूष के साथ गांव से करीब 3 कि मी दूर स्थित मोहगांव बीट के जंगल में जलाऊ लकड़ी बीनने 15 सितंबर की सुबह गई थी। इसी दरम्यान झाड़ियों के बीच मौजूद तेंदुए ने एकाएक महिला पर झपट कर हमला कर दिया। तेंदुए के हमले में महिला का पूरा चेहरा लहुलुहान हो गया और मौके पर उसकी मौत हो गई। महिला के चेहरे व गर्दन के आसपास के हिस्से को तेंदुए ने खा लिया। तेंदुए के हमले से घबराकर साथ गई महिलाएं व पुरूष मौके से अपनी जान बचाकर भाग निकले।

बाद में ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन अमले को दी, जिसके बाद ग्रामीणों के साथ वन अमला मौके पर पहुंचा। वन अमले के मौके पर पहुंचने से पहले ही तेंदुआ घने जंगल में लौट गया। वन अमले द्वारा ग्रामीणों को सतर्क रहने व अकेले जंगल नहीं जाने की समझाइश दी जा रही है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local