सिवनी, नईदुनिया प्रतिनिधि। खेत के आसपास फैलाए गए करंट की चपेट में आए नर तेंदुए का शव दरासीकला से लगे डूंडासिवनी गांव के राजस्व क्षेत्र में स्थित एक खेत के कुएं में फेंका गया था। शिकार की घटना के मामले में चार संदिग्धों को हिरासत में लेकर वन अमला गहन पूछताछ कर रहा है।

अधिकारियों का कहना है कि, प्रारंभिक छानबीन व पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में बिजली का करंट लगने के कारण नर तेंदुआ की मौत होने की पुष्टि हुई है। प्रकरण में विस्तृत जांच की जा रही है। जांच पूरी होने के बाद इस बारे में कुछ बताया जा सकेगा।

29 नवंबर को मिला था तेंदुआ का शव

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार शाम को दक्षिण सामान्य वनमंडल के रूखड वन परिक्षेत्र के दरासीकला अंतर्गत डूंडासिवनी गांव के खेत के कुएं में तेंदुआ का शव पानी में उतराता दिखाई देने पर इसकी सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दी गई। सूचना मिलने के बाद कुएं के पानी से तेंदुए का शव बाहर निकालने वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचा, लेकिन रात होने के कारण तेंदुए का शव कुएं से बाहर नहीं निकाला जा सका। बुधवार सुबह दक्षिण वनमंडल व पेंच राष्ट्रीय उद्यान का संयुक्त अमला मौके पर पहुंचा। यहां पर किसान के खेत के कुएं से तेंदुआ का शव पानी से बाहर निकालकर शव का पोस्ट मार्टम कराया गया।

इनका कहना है

कुएं में उतराता मिला शव तीन-चार दिन पुराना है।प्रारंभिक जांच में करंट लगने से तेंदुआ की मौत होने की पुष्टि हुई है।चार संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की जा रही हैं। करंट फैलाने उपयोग की गई सामग्री भी जब्त की गई है। प्रकरण में विस्तृत जांच की जा रही है।

योगेश पटेल, एसडीओ कुरई

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close