सिवनी/बरघाट। जिले के बरघाट विकासखंड अंतर्गत मऊ गांव में बस्ती के पास स्थित तालाब फूट गया। यह तो गनीमत रही कि तालाब का पानी नाले में बहते हुए धनई नदी में मिल गया, नहीं तो आसपास के खेतों में लगी फसलों को काफी नुकसान पहुंच सकता था। यह तालाब करीब 15 साल पहले जल संसाधन विभाग ने बनवाया था।

10 दिन पहले किया था बोरी बंधान

ग्रामीणों ने बताया है कि मऊ गांव में बस्ती से श्मशान मार्ग पर स्थित तालाब के रपटे के पास से पानी का रिसाव हो रहा था। इसे देखते हुए पंचायत ने बोरी बंधान का काम कराया था।पिछले साल भी यह तालाब फूटा था। इससे कुछ किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा था।तालाब के कमजोर होने की जानकारी विभागीय अधिकारियों तो दी गई थी।

लगातार वर्षा से ओवरफ्लो हुआ तालाब

मऊ गांव के लोगों ने बताया है कि बरघाट क्षेत्र में बीते 3 दिनों से रुक-रुक कर तेज व रिमझिम वर्षा का दौर जारी है।लगातार वर्षा के कारण मऊ तालाब ओवरफ्लो हो गया था।बोरी बंधान किए जाने के बाद तालाब का ओवरफ्लो पानी रपटे से बह रहा था, लेकिन शनिवार देर रात रपटे के किनारे की मिट्टी पानी का फोर्स नहीं सह पाई और तालाब फूट गया।गांव के लोगों ने बताया कि इस तालाब के पानी का उपयोग मऊ व लाटगांव के किसान फसलों की सिंचाई के लिए करते हैं।

आरआई, पटवारी ने बनाया पंचनामा

तालाब फूटने की सूचना मिलने के बाद रविवार को आरआई धर्मराज तुरकर, पटवारी कीर्ति बघेल ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की उपस्थिति में पंचनामा तैयार किया है। गांव के लोगों ने बताया कि करीब 15 से 20 फीट गहरे इस तालाब का पानी काफी मात्रा में बह गया है।इससे आने वाले समय में किसानों को परेशान होना पड़ सकता है।

इनका कहना है

लगतार वर्षा होने के कारण मऊ तालाब रपटे के पास से फूट गया है।तालाब का पानी नाले में बह जाने के कारण किसी भी प्रकार की हानि नहीं हुई है।करीब 10 दिन पहले ही यहां पंचायत ने बोरी बंधान का काम कराया था।तालाब में ज्यादा पानी भर जाने के कारण यह फूट गया।पिछले साल तालाब फूटने से कुछ किसानों की फसलों को नुकसान हुआ था।

राजेश गौतम, सरपंच, ग्राम पंचायत मऊ

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close