सिवनी।नगर पालिका परिषद द्वारा शीघ्र ही मंदिरों से भगवान के उतरने वाले श्रृंगार (निर्माल्य) को प्रतिदिन एकत्रित किया जाकर उसका विसर्जन पवित्र बैनगंगा नदी में किया जाएगा। इसके लिए नगर पालिका ने अलग से वाहन को तैयार किया जा रहा है।

नगर पालिका द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में सीएमओ नवनीत पांडे ने बताया कि, 21 जनवरी को विभिन्ना धार्मिक स्थलों पर पहुंचकर मंदिर समितियों व पुजारियों से चर्चा की गई। भ्रमण के दौरान महाकाली मंदिर के पुजारी अनिल दुबे, राममंदिर के पुजारी मनोहरलाल दुबे, पंचमुखी हनुमान मंदिर के मोहित दुबे व दुर्गा मंदिर के मथुरा प्रसाद दुबे से मिलकर चर्चा की।सीएमओ ने कहा कि, मंदिरों से भगवान के उतरने वाले श्रृंगार को प्रतिदिन कलेक्ट करने नगर पालिका पृथक से वाहन चलाया जाएगा।सीएमओ ने जैन मंदिर का दौरा कर जैन कमेटी के सदस्यों से चर्चा की।बौध्द विहार के आसपास गदंगी मिलने पर सीएमओ ने तत्काल स्वच्छता प्रभारी को वहां कि साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिए। बौध्द विहार के गार्डन व्यवस्थित करने को कहा।गुरूद्वारा में हरविंदर सिंह ने सिख धर्म के बारे में बहुत सी बाते सीएमओ पांडे को बताई।सीएमओ पांडे ने मंदिर समिति के सदस्यों को बताया कि, एक माह में निर्माल्य वाहन नगर पालिका द्वारा शुरू किया जाएगा।मंदिरों में भगवान का जितना भी श्रृंगार उतरता हैं, कई बार वह श्रद्धालुगण उसे पैरों में कुचल देते हैं, इससे वह अपवित्र व अशुद्ध हो जाता है इसे कलेक्ट करने नगर पालिका द्वारा अलग से वाहन की व्यवस्था की जा रही है जो प्रतिदिन भगवान के उतरने वाले श्रृंगार को एकत्रित करेगा व उसे बैनगंगा नदी के किनारे कुंड बनाकर उसे विसर्जित किया जाएगा।वहां की नियमित साफ-सफाई भी नगर पालिका द्वारा की जाएगी।

सीएमओ ने बताया कि, निर्माल्य सामग्री से अगरबत्ती व सेंट आदि बनाने समाजसेवी संगठनों ने रूचि जाहिर की हैं।इसके बाद नगर पालिका कार्यालय में गणतंत्र दिवस की तैयारियों पर बैठक आयोजित की गई, जिसमें निकाय की गतिविधियों व विभिन्ना विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई।

शिक्षक संघ ने मनाया कर्तव्य बोध दिवस

सिवनी। शिक्षक राष्ट्र की धुरी है, शिक्षक अपनी शक्ति को पहचानें इस आशय की बात शिक्षा विद व सेवानिवृत्त प्राध्यापक एसएन अग्रवाल ने मप्र शिक्षक संघ के कर्तव्य बोध दिवस कार्यक्रम में व्यक्त किए।उन्होंने कहा कि, एक शिक्षक का छात्रों व समाज के लोगों से सीधा संवाद होता है।सरकार की विभिन्ना योजनाओं के माध्यम से इस संपर्क को और गहरा करने का अवसर मिलता है जिससे उसकी शक्ति और बढ़ते जाती है। अत सौंपे जाने वाले प्रत्येक कार्य को एक अवसर के रूप में लेना चाहिए।मप्र शिक्षक संघ प्रतिवर्ष 12 जनवरी स्वामी विवेकानंद जयंती से 23 जनवरी सुभाषचंद्र बोस जयंती तक कर्तव्य बोध पखवाड़ा आयोजित करता हैं। इसमें शिक्षकों के मन में अपने राष्ट्र, समाज व शिक्षा के प्रति कर्तव्य बोध जागरण के कार्यक्रम किए जाते हैं।इस अवसर पर नववर्ष 2022 कैलेंडर का भी विमोचन किया गया।कार्यक्रम में मप्र शिक्षक संघ के संरक्षक डीएस श्रीवास्तव, संभागीय उपाध्यक्ष विजय शुक्ला, जिला अध्यक्ष अनिल शर्मा द्वारा प्रेरक उद्वोधन दिया गया।कार्यक्रम में मप्र शिक्षक संघ की ब्लाक, तहसील, नगर व जिला इकाइयों के पदाधिकारी, बड़ी संख्या में शिक्षकों ने अपनी सहभागिता दी।कार्यक्रम का संचालन कोषाध्यक्ष संतोष सूर्यवंशी ने किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local