सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

दीपावली पर्व के बाद से ही त्योहारों का दौर जारी हो गया है, जहां जिले के विभिन्न स्थानों पर परंपरागत तरीके से मड़ई मेलों का आयोजन आरंभ हो गया है, जहां बड़ी संख्या में यादव समाज के युवा व बुजुर्ग अपनी अहीरी नृत्य का प्रदर्शन कर रहे हैं।

आगामी 16 नवंबर को आंवला नवमीं के अवसर पर जिले के विभिन्न धार्मिक स्थलों पर म़ड़ई मेले सहित पूजन अर्चन अन्य कार्यक्रम आयोजित होंगे, जहां वैष्णोदेवी दरबार सीलादेही में आंवला नवमीं तिथि पर आंवला वृक्ष पूजन समारोह आयोजित किया गया है। इस दिन पहाड़ी में बने वैष्णोदेवी मंदिर में बड़ी संख्या में महिला पुरूष दिव्य वृक्ष आंवले की भक्ति भाव से पूजा करेंगे।

मान्यता है कि आंवला वृक्ष की पूजा एवं उसके पास बैठकर भोजन करने का विशेष महत्व होता है। आंवला वृक्ष पूजन से अति समृद्घि भी प्राप्त होती है।

16 नवंबर को बरघाट रोड स्थित बाघदेव बंजारी मंदिर परिसर में मढ़ई मेले का आयोजन इस वर्ष भी रखा गया है। समिति के पतिराम मर्सकोले, छिद्दीलाल श्रीवास व शिशुपाल तारम ने सभी नागरिकों से मेले का आनंद लेने के साथ ही आंवला नवमीं में अक्षय वृक्ष की पूजा अर्चना कर बाघदेव मां दुर्गा का आशीर्वाद लेने की अपील की है। मुख्यालय से कटंगी रोड स्थित महाकालेश्वर मंदिर में भगवान शिव का अभिषेक गंगाजल, क्षिप्रा गंगाजल, नर्मदा जल, कावेरी जल, वैनगंगा जल आदि जलों से कार्तिक शुक्ल पक्ष नवमीं को किया जाएगा।

ग्राम पांजरा में कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमीं पर 16 नवंबर को पारंपरिक मढ़ई का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर अनेक गांवों के लोग शामिल होते है, जहां भरने वाला मेला इस क्षेत्र की आदिवासी परंपरा को सहेजे हुए है। पं राजू दुबे व विनोद दुबे ने बताया कि पारंपरिक मढ़ई में सुबह 7 बजे से ही कार्यक्रम प्रारंभ हो जाएगा।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020