छपारा। नईदुनिया न्यूज

प्राइमरी स्कूल के बच्चों को गूगल ब्वॉय बनाने के साथ रात में उनके निरक्षर पालकों को साक्षर बनाने का अभियान शुरु करने वाले सहायक अध्यापक राजेश परते को उनके काम के लिए प्रशासन ने सम्मानित किया है। सोमवार को कलेक्टोरेट सभा कक्ष में कलेक्टर प्रवीण सिंह अढ़ायच ने सहायक शिक्षक को शॉल श्रीफल के साथ प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।

कलेक्टर ने इस पहल के लिए हर संभव मदद करने की बात कही है। नईदुनिया ने सहायक अध्यापक राजेश परते के इस नेक अभियान की खबर को 9 फरवरी के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस पर संज्ञान लेकर अच्छा काम करने पर प्रशासन ने सहायक अध्यापक को सम्मानित किया।

मिसाल बनकर

उभरे राजेश

जिले के विकासखण्ड छपारा के प्रायमरी स्कूल माहुलपानी के सहायक शिक्षक राजेश परते जिले ही नहीं अपितु सम्पूर्ण प्रदेश के शिक्षकों के लिए मिसाल बनकर उभरे हैं। जिन्होंने छोटे से गांव के बधाों को स्कूली किताबों के अलावा देश-विदेश की महत्वपूर्ण जानकारी कंठस्थ याद करा दी हैं। साथ बधाों के परिजनों को भी साक्षर करने का बीड़ा उठाया है।

राजेश शासकीय स्कूल में बधाों को पढ़ाने के बाद रात में चौपाल लगाकर उनके परिजनों को निःशुल्क पढ़ाते हैं। उनका कहना है कि वह गांव के गरीब परिवारों से आने वाले बधाों को काबिल इंसान बनाना चाहते हैं, ताकि उनके विद्यार्थी उधा पद पर आसीन हो कर अपने गांव और देश का नाम रौशन कर सकें।

ऐसे में उनके परिजनों को शिक्षा का महत्व समझकर बधाों को मजदूरी व खेती के कार्य में भेजने की बजाए स्कूल में शिक्षा प्राप्त करने प्रेरित कर सकें इसी उद्देश्य के लिए वे प्रतिदिन समय निकाल कर ग्रामीणजनों को भी पढ़ाते हैं। जिससे साक्षरता बढ़ रही।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020