सिवनी। आदिवासी विकासखंड कुरई में संचालित शासकीय स्कूलों में मध्यान्ह भोजन उपलब्ध कराने का कार्य स्व-सहायता समूह को दिया गया है और विगत 10 वर्षो से यह स्व-सहायता समूह स्कूलों में अपनी सेवाऐं दे रहे हैं। समूह की महिलाओं का आरोप है कि स्व-सहायता समूह से मध्यान्ह भोजन का कार्य छीनकर टुरिया, रिड्डीटेक में सोसायटी को किसी एक ठेकेदार को यह कार्य दिए जाने की कार्ययोजना बन रही है। इसे लेकर स्व-सहायता समूह में चिंता बनी हुई है। कुरई विकासखंड के छीतापार, परतापुर के गंगा स्व-सहायता समूह की अनुसूईया गौतम, फूलकुमारी सैयाम, गोमती इनवाती, प्रभा बरमैया, मेहतरी इनवाती सहित अनेक महिलाएं कलेक्टोरेट पहुंचकर उन्होंने पूर्व स्वसहायता समूह को यथावत रखने की मांग की गई है। ज्ञापन में कहा गया है कि उनके द्वारा एमडीएम के माध्यम से भोजन की सप्लाई विगत 10 वर्षो से की जा रही है। इस कार्य से मिलने वाली राशि से उनके परिवारों का भरण,पोषण होता है अगर उनसे यह छीन लिया जाएगा तो उनके सामने परिवार को पालने की समस्या निर्मित होगी। अगर शासन की मंशा सोसायटी के माध्यम से कराए जाने की है तो सबसे पहले हम लोगों को मौका दिया जाना चाहिए।