सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

एक शख्स ने अपने ट्रक की फायनेंस कंपनी की किश्त से बचने के लिए फर्जीवाड़ा कर डाला। पहले तो ट्रक चोरी की फर्जी रिपोर्ट दर्ज कराई और बाद में अपने ही ट्रक के दस्तावेजोंके आधार पर दूसरे ट्रक में अपने ट्रक का चेचिस नंबर डालकर उसे दूसरी जगह चलाने लगा। वहीं मूल ट्रक को कबाड़ में बेच दिया। पुलिस की लंबी छानबीन के बाद सच सामने और चोरी की रिपोर्ट लिखाने वाला ही युवक आरोपित निकला। यह खुलासा गुरुवार को प्रेसवार्ता में एडिशनल एसपी कमलेश खरपुसे ने किया।

तीन ट्रकों में उलझा मामला- प्रेसवार्ता में एएसपी कमलेश खरपुसे व डूंडासिवनी थाना प्रभारी अमित दाणी ने बताया कि गुरुनानक वार्ड निवासी अनीस खान ने डूंडासिवनी थाने में उसका दस चका ट्रक क्र एमपी 20 एचबी 2952 28 व 29 मार्च की रात चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने धारा 379 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु की।

जांच में पता लगा कि अनीस ने अपने ससुर अज्जु खान से ट्रक क्र एमपी 20 एचबी 1086 को खरीदकर रजिस्ट्रेशन अपने नाम कराया था। बाद में उसी ट्रक के पुराने होने पर उसे कबाड़ी के यहां बेच दिया था, लेकिन इस ट्रक के दस्तावेज आरटीओ आफिस में जमा करने की बात कबाड़ी से कहकर अपने पास रख लिए थे। इसके अलावा बरघाट थाना क्षेत्र के अनीस ने बोरीकला निवासी अफसर खान से एक टक क्रमांक सीजी 04 जेए 5008 भी लिया था। अनीस ने अफसर खान से लिए गए ट्रक में अपने पुराने ट्रक क्र एमपी एचबी 1086 का चैचिस नंबर डाल दिया था। साथ ही ट्रक का हुलिया बदल दिया। इसी बीच फायनेंस कंपनी ने पुलिस को शिकायत दी कि उनके यहां से फायनेंस कराए गए ट्रक को लेकर कुछ गड़बड़ है। तब पुलिस ने जांच की तो पता लगा कि सीजी 04 जेए 5008 नंबर के ट्रक में एमपी 20 एचबी 1086 का चेचिस नंबर डालकर दूसरी जगह चलाया जा रहा है।

जांच में प्रार्थी ही निकला आरोपित - इस मामले में डूंडासिवनी थाना प्रभारी अमित दाणी और उनकी टीम ने प्रार्थी अनीस खान पर ही संदेह जाहिर ट्रक चोरी को लेकर गहन पूछताछ की लेकिन शातिर अनीस खान ने कोई राज नहीं उगला। वहीं जांच को प्रभावित करने के लिए थाने के पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की झूठी शिकायत भी की। इसी बीच पुलिस को मुखबिर से अनीस खान द्वारा चोरी रिपोर्ट दर्ज कराए ट्रक में कलर कर हुलिया व नंबर प्लेट बदलकर दूसरे जिले में संचालन की भनक लगी। वहीं पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, नरसिंहपुर, नागपुर, अमरवती सहित अन्य जिलों में ट्रक की पतासाजी की। गहन जांच में जुटी डूंडासिवनी पुलिस को पता चला जिस ट्रक की अनीस खान द्वारा चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है वह ट्रक छिंदवाड़ा से महाराष्ट्र की ओर चलवाया जा रहा है। पुलिस ने जब पतासाजी की तो छिंदवाड़ा से पता चला कि चालक रहीम खान द्वारा हिन्दुस्तान लीवर से 24 अगस्त को साबुन भरकर ट्रक खामगांव महाराष्ट्र ले जाया गया है। इसी बीच अनीस खान को भी भनक लग गई कि पुलिस को ट्रक संबंधित जानकारी लग गई है। पुलिस ने 4 सितंबर को चालक रहीम खान को थाने में तलब किया। जिसके द्वारा अनीस खान का ट्रक क्र एमपी 20 एचबी 1086 नंबर प्लेट लगा हुआ ट्रक चलाना स्वीकार किया। वहीं उसने पुलिस को यह भी बताया कि 4 सितंबर को अनीस खान उसे छोड़कर ट्रक को वरूण मोरसी जिला अमरावती खुद ले गया है। डूंडासिवनी पुलिस ने अनीस खान को तलब किया और गहन पूछताछ की तो उसने बताया कि ट्रक फर्जी नंबर प्लेट एमपी 20 एचबी 1086 के नंबर से संचालित किए जा रहे ट्रक क्र एमपी 20 एचबी 2952 को पीली नदी नागपुर के पास समीर कबाड़ी के यहां ट्रक कटवाए जाने की बात कबूल की।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket