सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

बाघिन के शिकार मामले में पेंच पार्क प्रबंधन 9 माह बाद भी आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर सका है। खवासा बफर रेंज के कोठार बीट के कक्ष क्रमांक आरएफ 330 में नाले के पास 6 मार्च को उम्रदराज बाघिन का शव मिला था। पंजे और पूंछ काटकर शिकारी साथ ले गए थे। इस मामले में पेंच पार्क प्रबंधन पिछले 9 महीनों से जांच में लगा हुआ है लेकिन अभी तक शिकारियों का कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। कैमरा ट्रेप से मिली तस्वीरों के जरिए मृत बाघिन की पहचान टी 16 के रुप में की गई थी। करीब 17 साल उम्र की बाघिन का शिकार कर उसके दो पंजे और पूंछ शिकारियों ने काट लिए थे। पार्क प्रबंधन को इस मामले में अभी भी अज्ञात शिकारियों की तलाश है।

पार्क क्षेत्र में शिकारी सक्रिय- इस घटना के दो माह बाद दक्षिण सामान्य वन मंडल के रूखड़ परिक्षेत्र के पोतलई गांव में वन अमले ने बाघ की खाल सहित शिकारियों को गिरफ्तार किया था। भोपाल एसटीएफ द्वारा की गई जांच में चार मामलों का खुलासा हुआ था। इस मामले में 23 आरोपितों को भोपाल एसटीएफ और वन अमले ने गिरफ्तार किया था। पेंच छिंदवाड़ा क्षेत्र के कुंभपानी बफर क्षेत्र में भी बाघ की हड्डियां खुदाई के दौरान नाले में मिली थीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket