सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

4 साल से रुके कर्माझिरी विस्थापन के मामले में प्रशासन ने नईदुनिया की खबर पर संज्ञान लेकर विस्थापन की कवायद को तेज कर दिया है। गुरुवार को कलेक्टर प्रवीण सिंह ने अधिकारियों के साथ बैठक कर जोगीवाड़ा गांव में विस्थापित ग्रामीणों को फिर से बसाने के लिए आवयश्यक संसाधन जुटाने के निर्देश संबंधितों को दिए हैं। नईदुनिया ने 8 जनवरी को 4 साल से रुका है कर्माझिरी का विस्थापन, बढ़ेगा दायर शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी।

वनग्राम कर्माझिरी के विस्थापन को लेकर कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टरप्रवीण सिंह अढ़ायच की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में दक्षिण वनमंडल के डीएफओ पीपी टिटारे, पेंच टाईगर रिजर्व उपसंचालक एमबी सिरसैया, जिला पंचायत सीईओ सुनिल दुबे, कुरई एसडीएम कामेश्वर चौबे, एसडीओ एलके वासनिक सहित अन्य संबंधित अधिकारियों की उपस्थिति रही।

बैठक में पेंच टाइगर रिजर्व बफर जोन में स्थित वन ग्राम कर्माझिरी की विस्थापन को लेकर डिप्टी डायरेक्टर सिरसैया ने बताया कि राष्ट्रीय उद्यान में वन विकास व वन्य प्राणी संरक्षण के उद्देश्य से पेंच बफर जोन के वनग्राम कर्माझरी को विस्थापित किया जाना है। इसमें निवासरत 136 परिवारों को निकट ग्राम जोगीवाडा में विस्थापित करने की कार्ययोजना तैयार की गई है। इसमें रहवासियों द्वारा भी सहमति दी गई है। विस्थापित परिवारों को आर्थिक सहायता व सु-व्यवस्थित पुनर्वास व्यवस्था का विकल्प दिया ।

कलेक्टर प्रवीण सिंह ने कार्ययोजना का अवलोकन करने के बाद पेंच टाईगर रिजर्व व संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कर्माझिरी ग्राम वासियों के विस्थापन की सु-व्यवस्थित कार्य योजना बनाई जाए। जोगीवाड़ा के चिन्हांकित स्थान को सुविधाजनक रहवासी क्षेत्र के रूप में विकसित किया जाए। इसके लिए हाउसिंग बोर्ड से विधिवत रूप से प्लानिंग करवाकर ग्राम कर्माझिरी में रहने वाले परिवारों के निवास व कृषि भूमि की व्यवस्था कराई जाए।

जोगीवाड़ा को विकसित करने बनाएं कार्ययोजना - कलेक्टर प्रवीण सिंह ने बैठक में उपस्थित जिला पंचायत सीईओ सुनील दुबे से चिन्हित जोगीवाड़ा गांव में कर्माझिरी से विस्थापित होने वाले ग्रामीणों को ध्यान में रखते हुए तालाब, शांतिधाम, खेल मैदान इत्यादि मनरेगा से बनाने के लिए प्राक्कलन तैयार कराने कहा है। साथ ही मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को उप स्वास्थ्य केन्द्र, पीएचई कार्यपालन यंत्री विनोद तिवारी से नल-जल योजना, महिला बाल विकास विभाग व शिक्षा विभाग के अधिकारियों से आंगनबाड़ी केंद्र व मिडिल स्कूल तथा आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त को सामुदायिक भवन निर्माण कार्य का प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश दिए हैं। एमपीईबी को विद्युत कनेक्शन के लिए कार्ययोजना बनाने कहा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020