बरघाट। महाशिवरात्रि पर्व पर नगर के गांव, कस्बों के शिवालयों व मंदिरों में सुबह से ही भगवान शिव का पूजन करने भक्तों की भीड़ लगी रही। नगर के सदगुरु शिवालय, शंकर मंदिर पटेल टोला, अस्पताल प्रांगण में स्थित शिव मंदिर व प्रमुख मंदिरों में शिव पूजा के लिए सुबह से ही श्रद्घालुओं की लंबी कतारें देखी गई। मंदिरों में श्रद्घालुओं के हर-हर महादेव, ओम नमः शिवाय, बम-बम भोले के जयघोष से वातावरण गूंज उठा। महाशिवरात्रि पर्व पर मंदिरों के साथ अनेक श्रद्घालुओं ने अपने घरों पर भी रुद्राभिषेक व अनुष्ठान का आयोजन किया। श्रद्घालुओं ने धतूरे के फूल फल, भांग, बेल पत्र, अकवन और मंदार पुष्पों से भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना की। अनेक स्थानों पर भंडारा भी आयोजित किए गए। शिवालयों व नगर के मंदिरों को विशेष रूप से सजाया गया।

शिव-बारात और शोभायात्राएं - शुक्रवार को सभी शिव मंदिर रात और दिन लगातार खुले रहे ताकि श्रद्घालु किसी भी समय शिव पूजा कर सकें। अनेक मंदिरों में भव्य शिव बारात व शोभायात्राएं निकाली गई। सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने मंदिरों में पुलिस बल तैनात रहा। महाशिवरात्रि पर्व पर जेवनारा की शिव गुफा मंदिर में श्रद्घालुओं ने पूरे दिन पूजा अर्चना कर दर्शन किए। तीन दिवसीय मेले में पहले दिन मेले में लोगों की भीड़ देखने को मिली। पूरे क्षेत्र में भक्तिमय वातावरण दिखाई दिया। मेले के संबंध में मान्यता है कि हिर्री नदी के समीप इस स्थल पर शिवलिंग देखने को मिला था। उसी समय से यहां पूजा-अर्चना की प्रक्रिया शुरू हुई। इस स्थल को विकसित बनाने ग्रामीणों का विशेष योगदान रहा।

सत्य सांई ही समिति द्वारा पिलाया गया पानी - नगर की सत्य साईं समिति द्वारा मेले में लोगों की मदद के लिए पंडाल लगाकर पानी पिलाया जा रहा है। नगर के समाज सेवी बंटी पटले द्वारा प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी महाशिवरात्रि मेले में पंडाल लगाकर मंदिर में जाने वाले भक्तों की चप्पल जूते रखने के लिए स्टैंड बनाया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket